यूपी में कानून व्यवस्था हुई पंगु, विधि विद्यार्थी का शव दिया गाड़

Loading

गाजियाबाद: 14 अक्तूबर अल्फा न्यूज इंडिया डेस्क/मधुर शर्मा:—–हत्या के बाद 6 फीट गहरे गड्ढ़े में गाड़ा लॉ स्टूडेंट का शव, 4 दिन बाद हुआ सनसनीखेज खुलासा

दिल्ली से सटे गाजियाबाद के साहिबाबाद इलाके में 10 अक्टूबर से लापता कानून के छात्र पंकज (30) की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जांच में जुटी पुलिस ने सोमवार सुबह पंकज का शव मकान मालिक के घर के कमरे से छह फीट गड्ढे से बाहर निकाला। कानून के छात्र की हत्या का खुलासा होते ही पड़ोसियों भी हड़कंप में मच गया। पूरा मामला साहिबाबाद इलाके के गिरधर एंक्लेव का है, जहां घर के कमरे में फर्श की नीचे खुदाई के बाद छात्र का शव मिला। पुलिस ने शव को निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, हत्या का पहला शक मकान मालिक पर जा रहा है, जिसका छात्र पंकज से विवाद चल रहा था।

10 अक्टूबर से लापता था छात्र

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, छात्र पंकज 10 अक्टूबर से लापता था। शिकायत मिलने के बाद से ही पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी। इसी के साथ उसके मोबाइल फोन नंबर और लोकेशन के आधार पर पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी थी। वहीं, जब खुलासा हुआ तो लोगों के साथ पुलिस भी हैरान रह गई।

मकान मालिक पर शक

पुलिस पकंज हत्याकांड में सभी पहलुओं के आधार पर जांच में जुटी है। बताया जा रहा है कि कानून के छात्र पंकज ने मकान मालिक से बात करके करीब 15 दिन पहले घर खाली किया था। पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि कमरा खाली करने व साइबर कैफे में हिस्सेदारी को लेकर मकान मालिक से विवाद भी चल रहा था।

दिल्ली में भी सामने आया ऐसा ही मर्डर

इसी साल जनवरी महीने में इसी तरह का दिल्ली में भी युवक की हत्या का सनसनीखेज मामला आया था। दिल्ली की एक कंपनी कार्यरत बतौर एचआर मैनेजर ने अपने भतीजे की हत्या कर उसका शव बालकनी में गार्डन बनाकर गाड़ दिया था। हत्या के कई साल बाद इसका खुलासा हुआ। आरोपित मैनेजर ने बताया कि उसका भतीजा उसकी गर्लफ्रेंड के नजदीक आने लगा था। वह समझाने पर भी बाज नहीं आ रहा है, इसीलिए मार डाला। हत्यारोपित ने खुलासा किया था कि भतीजे पंखे के मोटर से सिर मारकर हत्या करने के बाद शव बालकनी में गाड़ा और हत्याकांड छिपाने के लिए उसने उस पर फूल उगा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

61505

+

Visitors