सी वी एम् के प्रधान पर मार्किट महिला प्रधान ने लगाये हैरतभरे आरोप,माँगा इस्तीफ़ा,पंजीकरण रदद् हो

Loading

चंडीगढ़ ; 17 फरवरी ;अल्फ़ा न्यूज इंडिया ;— चंडीगढ़ व्यापार मंडल के प्रधान अनिल वोहरा पर महिला प्रधान रजनी तलवार ने गम्भीर आरोप लगाया है। सेक्टर-40 मार्किट की महिला प्रधान रजनी का आरोप है कि वोहरा उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं। साथ ही वोहरा की प्रधानी छिनने के लिए वोहरा तरह तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। आखिरकार महिला प्रधान तंग आकर वोहरा एवं उनके साथियों के खिलाफ कोर्ट पहुँच गई है। वहीं महिला प्रधान को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने के आरोप के बाद से अनिल वोहरा के खिलाफ शहर के कई व्यापारियों ने मोर्चा खोल दिया है। गुस्साये व्यापारियों ने व्यापार मंडल के प्रधान अनिल वोहरा से इस्तीफे की मांग की है। साथ ही व्यापारियों ने प्रशासन से कहा है कि व्यापार मंडल का रजिस्ट्रेशन तुरंत रद्द हो। 
जानकारी के अनुसार गत माह 9 जनवरी 2017 को रजनी तलवार सेक्टर-40 मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन के लिए निर्विरोध रूप से दोबारा प्रधान चुन ली गई थी। इसकी जानकारी जैसे ही व्यापार मंडल के प्रधान अनिल वोहरा व उनके साथियों को मिली, उनके पैरों तले जमीन ही खिसक गई क्योंकि वोहरा अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर किसी और को मार्केट से प्रधान बनाना चाहते थे। इसलिए नियमानुसार चुनाव हो जाने के बावजूद अनिल वोहरा अपने अन्य साथियों जेके वेदी, करतार सिंह गुलाटी और संतोष मिश्र के साथ मिलकर फिर से सेक्टर-40 मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन प्रधान चुनाव के लिए दबाव बनाने लगे। चौकाने वाली बात है कि वोहरा व उनकी टीम यहीं नहीं रुकी बल्कि एसोसिएशन के कामकाज में दखल देकर निर्विरोध चुनी गई महिला प्रधान रजनी तलवार को मानसिक रूप से पीड़ा भी पहुँचाने लगे।  ऐसा प्रधान तलवार का आरोप है।
वोहरा दखल  देना बंद करे
अंततः मानसिक रूप से पीड़ित होकर रजनी तलवार ने व्यापार मंडल के प्रधान अनिल वोहरा, जेके वेदी, करतार सिंह गुलाटी और संतोष मिश्र को लीगल नोटिस भेज दिया। इसमें रजनी ने यह स्पष्ट किया कि  सेक्टर-40 मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन की वह चुनी हुई प्रधान है। इसलिए एसोसिएशन के कामों में बेवजह दखल देना बंद करे। इसके बाद भी वोहरा नहीं माने।
वोहरा को लीगल नोटिस
रजनी तलवार का आरोप है कि लीगल नोटिस के बावजूद अनिल वोहरा व उनके अन्य साथी कामकाज में  दखल देते रहे। हैरानी जताते हुए रजनी ने आरोप लगाया है कि उन लोगों ने लीगल नोटिस का जवाब देना तो दूर, उल्टा ही मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन का बोगस चुनाव 30 जनवरी 2017 को करा दिया। रजनी के अनुसार इस बोगस चुनाव में संतोष मिश्र को प्रधान भी चुन लिया गया। तलवार का आरोप है कि इस प्रकार से उन्हें लगातार मानसिक रूप से प्रताड़ित करने, पीड़ा पहुँचाने और धमकाने का काम किया जा रहा है।
रजनी पहुंची कोर्ट
रजनी का आरोप है कि व्यापार मंडल के प्रधान अनिल वोहरा व उनके साथियों की ओर से एसोसिएशन के कामकाज में दखलंदाजी बंद नहीं हुई है। मानसिक प्रताड़ना और पीड़ा पहुँचाने का काम अभी भी लगातार चल रहा है। अब महिला प्रधान ने थक हारकर न्याय पाने के लिए कोर्ट से गुहार लगाई है।
चुनाव दो साल में
रजनी तलवार का कहना है कि जब पहली बार वर्ष 2013 में वह  सेक्टर-40 मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन की प्रधान बनी तब भी कुछ स्वार्थी लोगों ने छह माह तक काम नहीं करने दिया। अब जब दोबारा निर्विरोध प्रधान चुनी गई है तो मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का बीड़ा अनिल वोहरा ने उठा लिया है। 9 जनवरी 2017 को चुनाव होने के सिर्फ 22 दिन बाद ही बोगस चुनाव करा दिया गया है, जबकि चुनाव दो साल बाद होना चाहिए था।
वोहरा के खिलाफ व्यापारियों ने खोला मोर्चा
व्यापारी संजीव बब्बर ने व्यापर मंडल प्रधान अनिल वोहरा को चेताया है कि दादागिरी करना बंद करे। बब्बर ने वोहरा से साफ कहा है कि प्रधान रजनी तलवार से तुरंत मांफी मांगे और ड्रामेबाजी बंद करे, अन्यथा शहर के व्यापारी चुप बैठने वाले नहीं हैं।
दूसरी ओर व्यापारी अश्वनी शर्मा ने भी वोहरा को चेतावनी दी है कि फूट डालो राज करो नीति छोड़ दे और महिला प्रधान तलवार से मांफी मांगे। शर्मा ने प्रशासन से भी मांग की है कि व्यापार मंडल का रजिस्ट्रेशन रद्द करे।
                                                     [साभार ;—-चंडीगढ़ न्यूज एक्सप्रेस ;भंडा फोड़ इंडिया]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

61492

+

Visitors