अमरनाथ यात्रियों पर हमले को लेकर पाकिस्तान खिलाफ नारेबाज़ी

Loading

अमरनाथ यात्रियों पर हमले को लेकर पाकिस्तान खिलाफ नारेबाज़ी
* 56 इंच का सीना दिखा दहाड़ने की बजाए कड़े कदम उठाया जाए 

पठानकोट :  11 जुलाई ; कँवल रंधावा/अल्फ़ा न्यूज इंडिया ;—— गत रात पाकिस्तान की शह पर आतंकवादियों द्वारा अमरनाथ के दर्शनों से वापिस लौट रहे श्रद्धालुओं की बस पर हमला करके 8 श्रद्धालुओं को मौत के घाट उतारने व 3 पुलिस कर्मियों सहित 25 को घायल करने की घटिया हरकत के खिलाफ आज पठानकोट-चम्बा राष्ट्रीय राज्य मार्ग पर दुनेरा स्थित शिरोमणि अकाली दल के ब्लॉक् अध्यक्ष नरेश सिंह पठानिया के नेतृत्व में लोगों ने पाकिस्तान व पाकिस्तान द्वारा भारत में फैलाए जा रहे आतंकवाद के खिलाफ जम कर रोष प्रदर्शन किया। पाकिस्तान की इस कायराना करतूत के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते पठानिया के अलावा लवनीत महाजन, फरीद दीन, भवनीत महाजन, काला मेहरा, विजय वर्मा,गुलशन कुमार, सुरेश शर्मा, सुभाष कुमार, सोनम मेहरा, दीपक महाजन, अंकुर कुमार, रमेश कुमार, मिंटू मिश्रा, दविंदर कुमार आदि ने कहा कि लम्बे समय से पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से हमारे जवानों व आम जनता को जानी व माली नुकसान पहुंचाता आ रहा है। जबकि भारतीय नीति में ही शायद कोई कमजोरी है जो आज तक आतंकवाद पर नुकेल नहीं कसी जा सकी। उन्होंने कहा कि एक और हमारे देश के जवान कश्मीरियों की शुरक्षा हेतु अपनी जान की बाज़ी लगा कर दिन रात सीमा पर सेवा निभा रहे हैं दूसरी ओर किसी आतंकवादी की मौत पर कई कश्मीरी जो अलगवादी सोच रखते हैं हमारे ही जवानों पर पथरबाज़ी करते हैं। भारत सरकार व भारतीय सुरक्षा मंत्रालय को अपनी नीति बदलते कड़ा रुख इख़्तेया करके सेना को ये छूट देनी चाहिए कि आतंकवादियों के हक़ में पत्थरबाज़ी करने वालों, पाकिस्तान या आईएसआईएस का झंडा लहराने वालों और पाकिस्तानी पक्ष में आवाज़ उठाने वालों को देखते ही गोली मारने की चूक न करें तभी खात्मा होगा भारत में से आतंकवाद का। उन्होंने कहा कि भारतीय राजनीति अपनी नरमी की आड़ में मात्र बयानबाज़ी करके कब तक अपने सेना के जवानों की बलि देती रहेगी। मोदी को 56 इंच के सीने मात्र दहाड़ नहीं कुछ कड़ा व ठोस फैसला लेकर कदम उठा ही देना चाहिए। प्रदर्शनकारियों ने अमरनाथ यात्रियों की शहादत का बदला तुरन्त पाकिस्तान से लेने की भारत सरकार से मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

63560

+

Visitors