बंसल कांग्रेस छोड़ो, वर्ना कांग्रेस इकाई का वंशनाश होगा !!!!

Loading

बंसल कांग्रेस छोड़ो, वर्ना कांग्रेस इकाई का वंशनाश होगा !!!! 

चण्डीगढ़ :  10 अगस्त : आरके विक्रमा शर्मा /मोनिका शर्मा ;—– शहर की राजनीति में जहां एक तरफ वरिष्ठ कांग्रेस नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी सक्रिय हो रहे हैं ! वहीं, कुछ पुराने कांग्रेसी बगावती तेवर दिखा रहे हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री व स्थानीय सांसद पवन बंसल के खिलाफ कांग्रेस जन अंदर खाते विरोध जता रहे हैं परंतु कांग्रेस नेता राज नागपाल, जो आल इंडिया राजीव मेमोरियल सोसायटी के अध्यक्ष हैं, ने खुलेआम बगावती तेवर अपना लिया है। उन्होंने पवन बंसल के खिलाफ कड़े शब्दों में पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी है जिसमें चंडीगढ़ कांग्रेस की दुर्दशा का वर्णन किया गया है। उनके मुताबिक पवन बंसल की छत्रछाया में पिछले आठ सालों में कोई भी कार्यकर्ता कांग्रेस में नहीं जोड़ा गया। वह किसी भी आमआदमी तो क्या बल्कि पार्टी कार्यकर्ता से भी मिलना पसंद नहीं करते।नागपाल के मुताबिक कोई गरीब व्यक्ति व कार्यकर्ता उनके निवास परमिल लें तो उसका काम करवाना तो दूर उसकी बेइज्जती तक कर देते हैं। वह किसी का फोन भी नहीं उठाते। पवन बंसल की वजह से ही आज चंडीगढ़ कांग्रेस मुक्त हो गया है क्योंकि आज सांसद से लेकर कारपोरेशन, जिला परिषद व पंचायत तक सभी भाजपाई हैं। पिछले कई सालों में जनाधारविहीन नेता बंसल ने न कोई बड़ी रैली की और न हीं विरोध प्रदर्शन व धरना किया ! बल्कि कभी कभी घर बैठे-बैठे प्रेसनोट जरूर जारी कर देते हैं। नागपाल ने यह भी लिखा है कि आजकल सेक्टर 35 स्थित राजीव गांधी कांग्रेस भवन में कोई नहीं जाता ! क्योंकि न तो स्थानीय प्रधान और न ही कोई पदाधिकारी वहां मिलते हैं। पहले गरीब लोग अपना काम कराने यहां आते थे व माहौल मेले जैसा प्रतीत होता था ! परंतु अब बिल्कुल उजाड़ व विरान हो गया है। हजारों पुराने कार्यकर्ताओं व मेरे जैसे छोटे बड़े कई नेताओं को पवन बंसल ने कांग्रेस से बाहर कर दिया है व खुद सर्वेसर्वा बने बैठे हैं।इस समय चंडीगढ़ कांग्रेस बहुत बुरे दौर से गुजर रही है। अब भी समय है कि स्थानीय संगठन में अमूलचूक बदलाव किया जाए व पार्टी को फिर से खड़ा किया जाए ! नहीं तो चंडीगढ़ के कोई कांग्रेस का नामलेवा भी नहीं बचेगा। इस पत्र में राज नागपाल ने अपना पूरा परिचय देते हुए बताया है कि वह पिछले 40 सालों से चंडीगढ़ कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 1991 में वह चंडीगढ़ कांग्रेंस में संगठन सचिव थे व 1992 में विनोद शर्मा ने उन्हें संयुक्त सचिव बनाया ! तत्पश्चात वर्ष 95 में पवन बंसल ने सचिव का पद की जिम्मेवारी दी ! बल्कि 99 में कुलभूषण गुप्ता ने वरिष्ठ सचिव का पद सौंपा तथा वर्ष 2004 में बीबी बहल ने चंडीगढ़ कांग्रेस के शहरी विकास प्रकोष्ठ का अध्यक्ष बनाया। इसके अलावा वर्ष 92 में कांग्रेस के तिरूपति में हुए प्लैनेरी सेशन में तथा  वर्ष 93 में जगदीश पुर, उत्तर प्रदेश में राजीव गांधी पंचायती राज एवं नगरपालिका कान्वेंशन में शामिल हुए थे। इसके अलावा नई दिल्ली स्थित तालकटोरा स्टेडियम में वर्ष 1994 में हुए कांग्रेस अधिवेशन में स्पेशनइनवायटी के तौर पर उन्हें आमंत्रित किया गया था। वर्ष 97 मेंकलकत्ता मे ंआयोजित 80 में प्लेनरी सेशन तथा वर्ष 2004 मेंतालकटोरा स्टेडियम में आल इंडिया सेशन में भी शामिल हुए। वर्ष2005 में चंडीगढ़ कांग्रेस के डेलीगेट के तौर पर नवसारी, गुजरात मेंडांडी यात्रा में भी शिरकत कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

60036

+

Visitors