जाट महासभा ने राष्ट्रपति शासन की मांग की, पंजाब में जानमाल बचाया सूबा सरकार ने, हरियाणा में सरकार हर मोर्चे पर रही नाकाम

Loading

 जाट महासभा  ने राष्ट्रपति शासन की मांग की, पंजाब में जानमाल बचाया सूबा सरकार ने, हरियाणा में  सरकार हर मोर्चे पर रही नाकाम  

चंडीगढ़ ; 26 अगस्त ; आरके विक्रमा शर्मा /करण शर्मा /एनके धीमान ;—–ऑल  इंडिया जट्ट महासभा केंद्र परषशित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रदेश प्रधान और एंटी करप्शन लीग के मुखी  राजिंदर सिंह बडहेडी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके आज मांग की कि जत्थेदार श्री अकाल गढ़  साहब बादल परिवार की सिरसा सच्चा सौदा डेरा मुखी को प्रमोट करने की जाँच हेतु कमेटी गठित की जाये ताकि पंथ को हानि पहुँचाने और सिखधर्म के प्रचार को दबाने और लोगों को डेरों की ओर प्रेरित किये जाने संबंधी कार्यों प्रयासों आदि की सम्पूर्ण स्तर पर जाँच करवाई जाये ! 
                      बडहेडी ने ये भी मांग की कि हरियाणा की खटटर सरकार तुरंत प्रभाव से  कर के राष्ट्रपति शासन लगाया जाये ! खटटर सरकार बाबा रामपाल करौंथा वाले की ग्रिफ्तारी फिर जाट आरक्षण आंदोलन और अब सिरसा डेरे के मुखी को बलात्कार के साध्वी केस में दोषी करार दिए जाने के बाद हालातों पर काबू पाने में असफल रहने पर भंग किया जाये ! सूबे में अम्न चैन सब भंग हो चूका ! सूबे में आज गुण्डातत्वों का राज है ! अनेकों लोगों की दर्दनाक मौतें इस सब की गवाह हैं ! हरियाणा में अभी भी हालत बदतर ही बने हुए हैं ! लोग भय असुरक्षा के माहौल में जीने को  मजबूर हैं !
                                       उधर भारतीय जनता पार्टी हाईकामन ने खटटर सरकार को यथावत सरकार चलाते रहने को ह्री झंडी दे दी और सरकार में कोई फेरबदल से साफ इंकार कर दिया ! उन लोगों के मुंह पर तमाचा जड़ा जो खटटर सरकार क खटारा सरकार कहते हैं ! 
                        ऑल  इंडिया जट्ट महासभा केंद्र परषशित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रदेश प्रधान और एंटी करप्शन लीग के मुखी  राजिंदर सिंह बडहेडी ने कहा कि पंजाब में खूब खून खराबा होने से बचा क्योंकि वहां कैप्टन अमरेंद्र सिंह की कांग्रेसी सरकार काबिज है ! बडहेडी ने कहा कि अगर सूबे में आज शिरोमणि अकाली दल बादल की सरकार होती तो सिख समाज और सूबे ढका खूब नुक्सान होने से कोई  बचा ही नहीं सकता था ! मांग में साफ़ कहा गया कि पिछले बीस सैलून से बादलों की डेरे के प्रति आस्था और राजनितिक भूख से ही डेरे प्रफुलित हुए हैं की जाँच लाजिमी होनी चाहिए ! कौम को पता लग्न जरूरी है कि कैसे बादलों ने ही डेरे व् डेरे मुखी की हिफाजत की और सिख कौम को खदसा लगाया ! साध्वी बलात्कार केस में रामरहीम बाबा को दोषी करार देने के बाद सूबे को जानमाल के बड़े नुकसान के लिए खटटर  है ! हर मोर्चे पे फेल रही खटटर सरकार को तुरंत बर्खास्त करके प्रेजिडेंट रूल लगाया जाये ! 
                                   ऑल  इंडिया जट्ट महासभा केंद्र परषशित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रदेश प्रधान और एंटी करप्शन लीग के मुखी  राजिंदर सिंह बडहेडी की उक्त  महासभा के राष्ट्रीय प्रधान खुद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टनब अमरेंद्र सिंह और रेणुका चौधरी [पूर्व केंद्रीय मंत्री भारतसरकार] प्रधान महिला प्रकोष्ठ है ! गौर फरमाएं कि कैप्टन अमरेंद्र सिंह ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो खुद डेरे के मोह और मक्क्ड़जाल से खुद को परे रख ही नहीं पाए ! बाबा जगेड़ा लुधियाना वाले और कैप्टन अमरेंद्र सिंह लोग भूले नहीं हैं ! खुद अमरेंद्र सिंह डेरा सच्चा सौदा सिरसा ही नहीं अपितु डेरा व्यास अमृतसर सहित डेरा सच्चा खंड जालंधर में ठीक उसी शिद्द्त आस्थावत जाकर नतमस्तक होते हैं जैसे शिरोमणि अकालीदल बादल के प्रकाश सिंह बादल अपने कुनबे के साथ होते हैं ! अब अज्ञात कारणों से कैप्टन ने कन्नी काटी तो कोई खास बजह जरूर होगी क्योंकि सब जानते कैप्टन भी तो सियासत के सुलझे कैप्टन हैं ! और सच बात तो ये है कि डूबता जहाज के साथ कौन जहाजी डूबता है ! 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

63561

+

Visitors