बीजेपी लीडर की जेसीबी मशीन अवैध खनन में धरी, सिफारशों का जोर पड़ा कमजोर

Loading

बीजेपी लीडर की जेसीबी मशीन अवैध खनन में धरी, सिफारशों का जोर पड़ा कमजोर
चंडीगढ़/मऊरानीपुर ; 5 अक्टूबर ; अल्फ़ा न्यूज इंडिया ;----अपनी सरकार हो, तो फिर सिफारिशों की भी दरकार हो भी क्यों न ! लेकिन आगे अफसर ईमानदार हो तो सब रुतबा बेकार हो ! ऐसा ही तो वाक्यात
मऊरानीपुर- झाँसी-इलाके में देखने सुनने को मिला ! इस वाक्यात के चर्चे बड़े ऊपर तक पक्ष विपक्ष वाले सब खूब चटखारे ले ले सुन और सुना रहे है !
स्थानीय  क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि के खासमखास और  हर सभा संगठन में उनके साथ मौजूद छुटभैय्या नेता की ही जेसीबी मशीन मिटटी का अवैध खनन करते वक़्त सरकारी अफसरान ने धरदबोची ! अब जब घटना की सूचना हर किसी को जंगल की आग की  तरह फैली मिली तो  मिलते ही सत्ता धारी नेताओ ने अपनी नाक और दोस्ती बचाने हेतु फेयर कानूनी कार्य में लगी इस मशीन को जल्दी छुड़वाने के लिए अपने जोर मनोब्बल का खूब इस्तेमाल शुरू किया !  लेकिन अफ़सोस नाकामी ने कदम बढ़ कर चूमे। मिली जानकारी मुताबिक  बुधवार की देर शाम ढलते ही  नायाब तहसीलदार शिवनारायण श्रीवास्तव व् उपनिरीक्षक भारत लाल गौतम पुलिस दलबल के साथ ग्राम भंडरा आ धमके ! जहा जेसीबी मिटटी का अवैध खनन करती हुई पकड़ी । जिसे कब्जे में लेकर  देवरी चौकी लाये । छुटभैय्या नेता की जेसीबी मशीन की पकड़ने जाने की सूचना पाकर सत्ता धारी नेता अपना रसूख दिखाते हुए आ धमके ! और जेसीबी मशीन को छुड़वाने के हर हत्थकंडे शुरु किये!    लेकिन ये क्या अफसरों पर तो कोई जूं तक भी न रेंगी !पुष्ट  सूत्रों मुताबिक जेसीबी मशीन को छुड़वाने हेतु   भारतीय जनता पार्टी के सम्मानित पद पर आसीन नेता ने भी मशीन छोड़ने को बोला। लेकिन अधिकारियों ने किसी की भी एक न सुनते  हुए खनिज विभाग की टीम को सूचित किया। मौका ऐ घटना पर टीम ने पहुँच कर जाँच कार्य में मशगूल हो गयी। और जेसीबी मशीन को छुड़ाने का प्रपंच कई बड़े कदावर नेताओ द्वारा किया जाना खबर लिखे जाने तक जारी है। भाजपा सरकार के हठी के दन्त खाने और दिखाने के ... वाली बात के सब खूब चटखारे ले रहे हैं ! बड़े नेता बेचारे छुटभैया नेता के चक्कर में अपनी किरकिरी करवा कर दुम छुपाये अगले बगले झाँक रहे हैं! लेकिन इलाके में इन अफसरों की ईमानदारी के खूब ढोल बज रहे हैं ! जिन्होंने अपनी जानमाल और नौकरी सब दांव पर लगा कर ईमानदारी को बट्टा नहीं लगने दिया ! अफसरों को हर स्तर पर शाबासी मिलने के क्रम में कोई कमी दर्ज नहीं की गयी !  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

60048

+

Visitors