तीन पूर्व कांग्रेसी सांसदों महेश जोशी, भंवर जितेंद्र सिंह और हरीश चौधरी की संपत्ति बेचकर सरकार बकाया वसूली करेगी

Loading

जैसलमेर ; 01 मार्च ; चन्द्रभान सोलंकी ;—–राजस्थान हाउस में ठहरकर किराया नहीं चुकाने वाले तीन पूर्व कांग्रेसी सांसदों महेश जोशी, भंवर जितेंद्र सिंह और हरीश चौधरी की संपत्ति बेचकर सरकार बकाया वसूली करेगी। तीनों सांसदों पर करीब 53 लाख रुपए का किराया बकाया है। सबसे ज्यादा बकाया अलवर के पूर्व सांसद भंवर जितेंद्र सिंह पर है। इन पर 19 मई 2009 से 10 मार्च 2012 तक करीब 37 लाख रुपए की बकाया निकाली गई है। बाड़मेर से पूर्व सांसद हरीश चौधरी पर मई 2009 से सितंबर 2010 तक 8 लाख 65 हजार रुपए, जयपुर पूर्व सांसद महेश जोशी पर मई 2009 से मार्च 2012 तक 8 लाख 62 हजार रुपए की वसूली पेंडिंग है। जितेंद्र सिंह की प्रॉपर्टी बेचकर बकाया वसूली के लिए अलवर कलेक्टर मुक्तानंद अग्रवाल को सरकार ने निर्देश भेज दिए हैं। हालांकि यह प्रक्रिया भी काफी लंबी है। वसूली से पहले कलेक्टर को मामले की सुनवाई करनी होगी। 
हरीश चौधरी और महेश जोशी से वसूली के निर्देश अगले सप्ताह कलेक्टरों को जारी किए जाएंगे। सामान्य प्रशासन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इन दोनों पूर्व सांसदों की संपत्ति की जमाबंदी भी मंगवा ली गई है। 
अब कलेक्टरों को जमा बंदी की कॉपी भेजकर बकाया वसूली के निर्देश दिए जाएंगे। इसकी वसूली के लिए सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से तीनों सांसदों को नोटिस भी भेजे गए थे। लेकिन तीनों सांसदों ने बकाया नहीं चुकाया। इसके बाद विभाग ने तीनों सांसदों की संपत्ति का ब्योरा इकट्‌ठा करने के लिए संबंधित कलेक्टरों को निर्देश जारी कर जमा बंदी की कॉपी मंगवाई थी।

========================================================
बाड़मेर—जोधपुर हाइवे पर स्थित कवास और बायतु के बीच टोल नाके ने बाकि कुछ दिया ना दिया परेशानी आमजनता को दे दी हैं। इसी टोल नाके पर लूट की वारदात सामने आई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार यह घटना दो दिन पूर्व की बताई जा रही है। जिसको लेकर नागाणा थाने में परिवादी किशोरीलाल ने मामला दर्ज करवाया है।
बाड़मेर वृताधिकारी ओमप्रकाश उज्ज्वल ने बताया कि सरनू निवासी ठेकेदार किशोरी लाल ने नागाणा थाने में मामला दर्ज करवाया कि वह रात को बाड़मेर की तरफ आ रहा था, टोल नाके पर टोल राशि को लेकर बहस हो गई। इसके बाद वह केम्पर गाड़ी में बैठा था, तभी पांच लोग उसके पास आए और गाड़ी का दरवाजा खटखटाया। दरवाजा खोलने पर एक ने उसकी कनपटी पर पिस्टल रख दी तथा गाड़ी की चाबी छीन ली। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। उज्जवल ने बताया कि सोमवार को उनके द्वारा भी घटना स्थल का मौका मुआयना किया गया तथा टोल नाके पर लगे सीसीटीवी के फुटेज खंगाले जिसमें चार टोल नाके के कर्मचारी के रूप में पहचान किए गए है और एक जिसके हाथ में हथियार था उसकी पहचान में पुलिस जुटी हुई है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

60987

+

Visitors