सत्तारूढ़ अमरेंद्र सरकार और मंत्रियों अफसरों ने किया शहीदों का अपमान

Loading

सत्तारूढ़ अमरेंद्र सरकार और मंत्रियों अफसरों ने किया शहीदों का अपमान 

चंडीगढ़ ; 3 मई ; आरके शर्मा /मोनिका शर्मा /कर्णशर्मा ;——-देश के रखवारे अपनी जान पर खेलकर देश की हिफाजत में जुटे हैं ! बदले में देश इन वीरों की क़ुरबानी का हिसाब उनको भुला कर ही पूरा करता है ! पंजाब विधानसभा के पूर्व स्पीकर [डिप्टी] वीर दविंदर सिंह ने कैप्टन उनके सलाहकार आदि पर शहीदों के संस्कार पर नदारद रहने को वीरों के सम्मान का अपमान करार दिया ! सीआरपीएफ का इंस्पेक्टर रघुबीर सिंह नक्क्सली हमले में छत्तीसगढ़ में कायरों की गोली का शिकार होकर वीर गति को प्राप्त हुआ था पंजाब सरकार का सीएम कैप्टन और अन्य मंत्री और दूसरा कोई सरकार अधिकारी अंतिम संस्कार की वेला पर भी नहीं पहुंचा ! अभी बार्डर पर पाकिस्तान के नपुंसक सेना के लोगों ने दो भारतीय जवानों को गोलियां मार कर कत्ल कर दिया था ! जिला तरनतारन के गाँव वेई पुई कश्मीर की सीमा पर  इस गाँव के नायब सूबेदार परमजीत सिंह को बेरहमी से मौत के घाट उतारा ! उनके संस्कार पर फिर कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री जोकि खुद सेना से कैप्टन रिटायर्ड हैं ने वीर सेना अधिकारी नायब सूबेदार परमजीत सिंह के भी संस्कार में किसी ने कोई शिरकत नहीं की ! कैप्टन ने सेना के वीर  का आज अंतिम संस्कार भी हवा में उड़ाया ! प्रदेश के सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह को कतई  फ़िक्र नहीं रहीं कि बेधड़क अपनी ड्यूटी को समर्पित  कि कहाँ क्या हुआ ! जो आदर सत्कार एक सेना अधिकारी को देना तक भूल गए और अब खुद देखो  वीर  शहीद को ही नजरअंदाज किया या भूले से ये सब घटा ! वीरों की क़ुरबानी का उपहास बड़े बड़े उड़ाकर ख़ाक छान रहे हैं ! अब कैप्टन  को भला कौन पूछेगा कि इतने ब्यरोक्रेट्स पुलिस अधिकारी स्टाफ आदि की व्यवस्था करना थोड़ा मुश्किल जरूर है पर ये सफेद हाथी हैं इसका भी खुलासा किया गया ! सरकार का सलाहकार [ सीनियर ] [जिसे कैबिनेट मंत्री का रुतबा प्रदान किया गया ] ने भी कैप्टन को सूचित नहीं किया कि आज शहीद परमजीत सिंह का अंतिम संस्कार हुआ जिसमे दूर दराज के इलाकों से लोगों ने तो शिरकत कर लिए पर ये जो सीटों पर खातेपीते हैं उनका क्या हाल है ! जनरल [लेफ्टिनेंट ]टीएस शेरगिल ने वक़्त पर कैप्टन को आगाह नहीं किया जो सत्तारूढ़ वर्ग के लिए बड़ा अचूक बाण हाथ लगा है ! ये शेरगिल माक़िफ़ अधिकारी दफ्तर हैड का पैसा तक निगल रहे है या कहानी कुछ और है ! 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

63556

+

Visitors