वेस्ट प्लास्टिक बोतल डालने पर मिलेगा मोबाईल रिचार्ज कूपन:उमा

Loading

 कुरुक्षेत्र  ; 26 मई ; राकेश शर्मा/अल्फ़ा न्यूज इंडिया ;———नगरपलिका की अध्यक्षा उमा सुधा ने कहा कि शहर में वेस्ट प्लास्टिक की बोतल को मशीन में डालने व्यक्ति वाले व्यक्ति को मोबाईल रिचार्ज के कूपन के साथ-साथ अलग-अलग तरह के उपहार मिलेंगे। इस उपहार को देने वाली मशीन को शीघ्र ही थानेसर शहर में स्थापित किया जाएगा। इतना ही नहीं लोगों को हर प्रकार की सुविधा देने के लिए शहर में एक स्मार्ट शौचालय भी स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इन दोनों मशीनों को शहर में लगाने के लिए विधायक सुभाष सुधा ने भी अपनी सहमति दे दी है।
नप अध्यक्षा उमा सुधा शुक्रवार को देर सायं नगरपरिषद कार्यालय के सभागार में पार्षदों और समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को कचरे से कमाई करने और वेस्ट प्रोडक्ट से सुंदर वस्तुएं बनाने को लेकर प्रशिक्षण दे रही थी। इससे पहले थानेसर विधायक सुभाष सुधा, नगर परिषद की अध्यक्षा उमा सुधा, नगर परिषद के उपाध्यक्ष सुरेन्द्र छिंदा, ईओ बीएन भारती ने नवीनीकरण के बाद नप के सभागार का उदघाटन किया। इसके पश्चात नप अध्यक्षा उमा सुधा ने दिल्ली के कचरा प्रबंधन प्रौजेक्टस की तमाम बारीकियों को पार्षदों और समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के समक्ष रखा। इस दौरान कचरा प्रंबधन को लेकर दो-तीन डाक्यूमेंट्री फिल्म भी दिखाई गई। इस कार्यक्रम में विधायक सुभाष सुधा ने स्मार्ट शौचालय और विशेष मशीन लगाने की घोषणा करते हुए पत्रकारों को बताया कि शहर में रोजाना करीब 67 टन कूड़ा एकत्रित किया जाता है। इस कूड़े से बिजली बनाने का प्रोजैक्ट एक साल अम्बाला में शुरु हो जाएगा, लेकिन इस एक साल में कुरुक्षेत्र शहर के लोगों को अपने-अपने घरों के गीले और सुखे कचरे को अलग-अलग करने की आदत डालनी होगी। इतना ही नहीं 5 जून को पर्यावरण दिवस पर शहर के प्रत्येक वार्ड को स्वच्छ बनाने में नगर पार्षद और संस्थाए अपना योगदान देगी।
नप अध्यक्षा ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा नई दिल्ली में 5 दिन विशेष कार्यशाला का आयोजन कर कचरा प्रबंधन के बारे में प्रशिक्षण देने का कार्य किया। इस प्रशिक्षण के दौरान कचरे का उचित प्रयोग करने से संबधित तमाम पहलुओं पर प्रकाश डाला गया। उन्होंने कहा कि घर-घर के कूड़े कचरे और कर्कट को व्यर्थ में फैंकना नहीं चाहिए। इससे शहर भी गंदा होता है। इस कचरे से पैसा भी कमाया जा सकता है। इसके लिए सिर्फ सफाई कर्मचारी और आम नागरिकों को अपनी सोच बदलकर मेहनत और ईमानदारी के साथ काम करना होगा। उन्होंने कहा कि अब एक कदम और आगे बढ़ते हुए थानेसर को स्वच्छता के मामले में नम्बर एक बनाने का प्रयास करना है। परंतु इसके लिए सभी का सहयोग होना बहुत जरूरी है। नप अध्यक्षा ने कहा कि प्रत्येक वार्ड में कचरे से खाद बनाने के लिए नगर परिषद की तरफ से प्रशिक्षण देने के साथ-साथ हर प्रकार की सहायता भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि 5 जून को पर्यावरण दिवस के रूप में मनाया जाना है। इस दिन शहर के सभी स्कूल,संस्थाएं और आम नागरिकों को साथ जोडा जाएगा और थानेसर शहर को स्वच्छ बनाने का प्रयास किया जाएगा। 
नप अध्यक्षा उमा सुधा ने कहा कि कूडे में इलैक्ट्रोनिक्स सामान के फैंकने से कैंसर जैसी कई भयंकर बिमारियां होने की संभावना बनी रहती है। इसलिए घर व दुकान के कचरे में इलैक्ट्रोनिक्स सामान नहीं फैंकना चाहिए। इसको अलग से ही रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि शहर के सफाई कर्मचारियों को दिल्ली में कचरा प्रबंधन को लेकर प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। इस प्रशिक्षण के बाद शहरवासियों को कचरा प्रबंधन के प्रति जागरूक करने के लिए विशेष प्रयास किए जाएंगे। इसके लिए प्रत्येक वार्ड पाषर्द और वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों को लेकर विशेष अभियान चलाया जाएगा। इस मौके पर सभी नगर पार्षद और समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

60069

+

Visitors