प्रशासन की नाक तले स्कूल की बगल में मदिरालय में होती हुर्रे हुर्रे

Loading

 जैसलमेर : 27 मई ; चंद्रभान सोलंकी /अल्फ़ा न्यूज इंडिया ;—— शिक्षा का मंदिर हो और पास में मदिरालय हो तो पढ़ाई कैसे मुमकिन होगी|  यह नजारा  है  गफूर-भट्टा वार्ड नंबर 31 मैन हाईवे रोड जैसलमेर का ! जहां पर प्राइवेट स्कूल के पास देशी शराब का ठेका का संचालन शुरू हुआ है इस ठेके के पास कर्मस्थलीय उच्च माध्यमिक विद्यालय स्थित है जो की एक दम नजदीक है जिन की दूरी 100 मीटर से भी कम है बावजूद इसके शिक्षा के मंदिर जहां पर नौनिहाल अपने जीवन की मजबूत निवी रखते हैं उसके पास ही अगर मदिरालय संचालित होंगे तो उनकी पढ़ाई कितनी बार जीत होगी इसका अंदाजा सहजता से लगाया जा सकता है वार्ड की महिला पार्षद व वार्ड निवासियों ने जिला आबकारी अधिकारी से कई बार  मांग की है कि  इस उक्त देशी शराब के ठेके को कहीं और विद्यालय से दूर अन्यत्र स्थापित किया जाए ।हाइवे रोड पर   बाबा रामदेव जी का मंदिर , व प्राथमिक विधालय के पास  शराब की दुकान खोलना बिल्कुल अनुचित है और अवैध भी है इस दुकान को तुरंत बंद किया जाए क्योंकि यहां पर अवश्य इलाका भी है और महिलाएं बहन बेटी गुजरने का रास्ता भी है शराब का ठेका होने से अराजकतत्व यहां पर कई बार माहौल खराब करते रहते हैं , वार्ड वासियों  ने बताया कि आबकारी विभाग को इस ठेके को तुरंत बंद कर देना चाहिए या इस देशी शराब के ठेके को अन्यत्र विस्थापित करना चाहिए , उन्होंने बताया कि इस ठेके के पास एक  विद्यालय भी संचालित हो रहा  हैं ,  जिससे बच्चों की पढ़ाई बाधित होती रहती है  और हम मोहल्ले वासियों  को परेशानी होती हैं । फ़िलहाल तो प्रशासन के तंत्र सहित आबकारी विभाग और क्षेत्र के दबंग रसूखदार लोगों की मौजूदगी भी संदेह के घेरे में छटपटायेगी तो कानून भी जागेगा और समाज के कर्णधारों को पढ़ाई का महौल मिलेगा ! अब देखने वाली बात यह रहेगी कि आबकारी विभाग कब तक विद्यालय के पास  संचालित हो रहे ठेके पर कार्रवाई करेगा।*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

60068

+

Visitors