उत्तरी भारतचंडीगढ़राजनीतिसभी समाचार

डीसी ऑफिस में अव्यवस्था और टपकती छतों सहित बदबू ने घोट रखा सबका दम

चंडीगढ़ ; मोनिका शर्मा /आरके शर्मा /करणशर्मा ;—-चंडीगढ़ अपने सजे सँवरे व्यवस्थित हुस्न का कभी सानी नहीं  रखता था ! लेकिन आज इसके तन्त्र यन्त्र और मन्त्रा सब अपाहिज होकर सबको निराश और हताश करने के सिवा कुछ भी नहीं हैं ! स्वच्छता अभियान यहाँ वहां आखिरी सांसे लेते देखा जा सकता है ! सड़कों पर पसरी गन्दगी मोदी के स्वच्छ भारत का जनाजा सजाता देख कर बाबुओं की कारगुजारी से पर्दा उठाता है ! दफ्तरों में तो गाँधी छाप बाबु अपनी  सीट से नदारद रहते जो बैठे रहते वो ठगते रहते और बेचारे वरिष्ठ अधिकारी उनको कार्यवाही से बचाने के लिए लीपापोती मजबूरन करते रहते हैं ! सोहनी सिटी के डिप्टी कमिश्नर के ऑफिस का नजारा  हाथी  के दांत खाने के और दिखाने के और  वाली कहावत दर्शाते  हैं ! ग्राउंड फ्लोर पर डीसी ऑफिस की डाक लेने वाले काउंटरों की तरफ गन्दगी चारों ओर फैली अव्यवस्था और दूर दूर तक फैलती हुई दमघोटू बदबू सारी कहानी खुद बोलती है ! रूटीन की डाक काउंटर व् मैरिज काउंटर से लेकर अन्य सर्टिफिकेट जारी करने वाले काउंटर्स  पर रोजाना अनेकों उपभोक्ता व् युवा जोड़े अपने अभिभावकों के साथ मैरिज रजिस्ट्रेशन करवाने आते हैं पर यहाँ का सीन सामने पड़ते ही शरीर में सिहरन सी दौड़ जाती है ! दमघोटू  बदबू जब नथुनों में जबरी घुसपैठ करती तो इसको यकलख्त रोकने के लिए ज्यों  ही अफरा तफरी में हाथ नाक की सम्मत बढ़ते हैं हाथ में थमा सामान गन्दे फर्श पर आ गिरता है ! बदबू का सब से ज्यादा शिकार होते ये बेचारे सरकारी कर्मचारी अनेकों मर्तबा शिकायतें देने के बाद हताश हो अब तो मजबूरन झेलने का झमेला सहते हैं ! ऐसा भी नहीं कि डीसी ऑफिस के उपायुक्त, एसडीएम व्  अनेकों सुपरिंटेंडेंट सबॉर्डिनेट्स और डीसीओ में आने वाले आरटीआई एक्विस्टों, समाजसेवियों  को इस जानलेवा  बदबू  की जानकारी नहीं है  पर अज्ञात कारणों से सब इन बेचारे सरकारी बाबुओं सहित उपभोक्ताओं की सिरदर्दी बनी बदबू को हटाने के लिए कोई कदम उठाने की जहमत नहीं उठाना चाहता है ! गहरी निगाह डाली तो पाया कि सारा फर्श दरारों से सराबोर है इन्हीं से बदबू रिसती फैलती हुई सब को आसाध्य बीमारियॉ बांटती है ! इन्हीं बरसातों में चौथी  मंजिल के एक कमरे में काबिज नायब तहसीलदार सुरेश कुमार और अपने काम करवाने आये हुए उपभोक्ता सब टपकती छत में चूहों की तरह कोने में सटे  खड़े देखे गए ! बेशकीमती रिकॉर्ड सम्भाले हुए फाइलें भी टपकती छत और छीटों से गीली होकर गलने के कगार पर हैं ! कल अगर कोई किसी का जरूरी रिकॉर्ड उपलब्ध न हो तो शिकवा बाबुओं का मत करें और जिम्मेवार पर ही कानून एक्शन लेने से गुरेज नहीं करना ! दीवारें सीलन सहती हैं कभी भी करंट आने से भयावह हादसे होने के अंदेशे बने रहते हैं ! 

Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

2 Comments

  1. डीसी विभाग का ये नमूना खुदबखुद समूचे शहर की दयनीय दशा की तस्वीर पेश कर रहा है ! डीसीओ शहर के हार्ट कहे जाने वाले सेक्टर 17 में स्थित है ; आशा है कि ALPHA NEWS INDIA की पहल का जल्दी ही सबको लाभ पहुंचे और डीसीओ अपनी साफ़ सुथरी
    छवि को फिर से प्राप्त करे ,.,.,.अल्फा न्यूज़ इंडिया —09463986540 व्हाट्सअप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close