उद्योग जगतचंडीगढ़राजनीतिराष्ट्रीयसभी समाचार

ब्रॉड बैंड और लैंडलाइन बिलों पर जीएसटी का पड़ा प्रभाव

ब्रॉड बैंड और लैंडलाइन बिलों पर जीएसटी का पड़ा  प्रभाव

चंडीगढ़ ; 2 जुलाई ; आरके शर्मा /मोनिका शर्मा /कर्णशर्मा ;—–देश भर में पहली जुलाई की आधी रात को शहीदों को समर्पित शानदार समारोह में जीएसटी [वस्तु सेवा कर] को लागू कर दिया गया है ! हालाँकि नोटबंदी के फैसले की तरह यहाँ भी मोदी सरकार की जल्दबाजी स्पष्ट मुखर रही है ! देश भर में खूब हो हल्ला मचा हुआ है ! व्यापारी जमात ही इसका विरोध कर रही है ऐसा भी तो नहीं है ! समस्त आधारों पर विरोध के स्वर मुखर हुए हैं ! भले आगे चल कर ये जीएसटी देश में कोई नयापन और देश हित में मील का पत्थर कायम करे अलग बात है ! बात करें कांग्रेस की तो जीएसटी उनकी रखी नींव पर बनी इमारत बोली जा रही है ! ये देन किसी और की नहीं बल्कि देश विदेश में विख्यात और देश के पूर्व प्र्धानमंती डॉ मनमोहन सिंह की है ! अर्थ मामलों में मोदी मनमोहन सिंह का खूब लोहा मानते हैं ! अब इसका ये मतलब नहीं है कि जेटली उनसे काफी दूर के पायदान पर हैं ! पर डॉ मनमोहन सिंह की अर्थ पॉलिसीज पर यूएसए गवर्नमेंट तक को नाज है !
जीएसटी का असर घर से लेकर फैक्ट्रीज इंडस्ट्रीज बैंक यातायात खेतीबाड़ी रसोई घर मकान हर वस्तु इससे अछूती न रही ! एयरटेल से इसके ब्रॉडबैंड और लैंडलाइन ग्राहकों को लगातार मूल रही ईमेल माध्यम से जीएसटी के कारण टेक्स मूल्यों में हुई बढ़ोतरी से वाकिफ करवाया जा रहा है ! पोस्टपेड पर जीएसटी का अधिक असर पड़ेगा ये भी कहा गया है ! तीन % टेक्स बढ़ोतरी कोई छोटी बात भी नहीं है ! सेवा शर्तें तो थोप दी जाती हैं पर सेवा मूल्य ग्रहण करने के दबाद कितनी सार्थक दी जाती, ये भी सुनिश्चित किये जाएँ ! 
         और अब एयरटेल ने ब्रॉडबैंड /लैंडलाइन के तक में तीन फीसदी का तक इजाफा किया है ! इसके मुताबिक अब 15 से बढ़कर ये 18 % [प्रतिशत] निर्धारित किया गया है ! यानि कि अगर अगर आप का बिल 1000 रूपये आता है तो इसपर तीस रूपये बढ़ कर अब टेक्स के रूप एक सौ अस्सी वसूले जायेंगे !
मजेदार बात तो ये देखें कि टेक्स बढ़ा पर कोई भी उपभोक्ता को बनती सेवा मुकम्मल देने के मसौदे पर मुंह तक खोलने को तैयार नहीं है ! भले ही वो सरकारी बाबू अधिकारी या फिर कम्पनी का कोई अधिकारी है ! कोई भी जवाबदेही और जिम्मेवारी के लिए भीगी बिल्ली ही साबित हो रहा है ! भारती  एयरटेल लिमिटड की उपभोक्ता को सेंड की गई जीएसटी के नए टेक्स रेट के  साथ ईमेल से बढ़ोतरी की पुष्टि की गई है ! 

Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close