उत्तरी भारतचंडीगढ़नई दिल्लीराष्ट्रीयसभी समाचारहरियाणाहिमाचल प्रदेश

सीएचबी की कारगुजारी, भरेपूरे बेकसूर परिवार को सड़क पर भूखा प्यासा ला पटका ,पार्षद तक नदारद,पड़ोसी बने मददगार

सीएचबी की कारगुजारी, भरेपूरे बेकसूर परिवार को सड़क पर भूखा प्यासा ला पटका ,पार्षद तक नदारद,पड़ोसी बने मददगार  


चंडीगढ़ ; 14 जनवरी ; मोनिका शर्मा / करण शर्मा ;——सोनिया अपने बेटे की पहली लोहड़ी मनाने के लिए अपने माँबाप के घर आयी थी ! पर चंडीगढ़ हाऊसिंग बोर्ड की कारगुजारी ने उसके भाई और मातापिता को सड़क पर ला पटका ! कहाँ तो पहली लोहड़ी की ख़ुशी मनानी थी और कहाँ खुशियों की ही लोहड़ी सीएचबी ने बीच सड़क ठिठुरती रात में उनके घर का सारा सामान फेंकवा डाला ! एकत्रित जानकारी मुताबिक तो मकान नंबर 325 सेक्टर 45 ऐ की अलोटमेंन्ट 1990 में नरेंद्र [278 /41 चंडीगढ़] को गई ! पर वह दो साल तक पूरी कीमत अदा करने में नाकाम रहा ! 1992 में नरेंद्र की अलॉटमेंट कैंसिल की गई और सीएचबी ने फिर से अलॉटमेंट ब्रिज मोहन लाल गुलाटी के नाम की ! गुलाटी ने 1999 में अपना मकान देशराज गर्ग को बेचा तो गर्ग ने रजिस्ट्री अपने नाम करवाई ! आज कोर्ट का कर्मी [वेलफ़े] राजीव कुमार माननीया जज रेखा चौधरी के आदेश लेकर पुलिस फ़ोर्स लेकर बाद दोपहर आया और रात आठ बजे से पहले सारा घर खाली करवाया और नरेंद्र का कब्जा का ताला पुलिस की मौजूदगी में लगा गया ! आखिर देशराज गर्ग और उनकी बीबी उषा गर्ग सहित जवान बेटा संदीप गर्ग कोर्ट और सीएचबी सहित अन्य अथॉरिटीज से एक  पूछ रही हैं उनका कसूर है क्या ? उनका भरे समाज में अपमान किया गया और रजिस्ट्री रहते हुए भी बेघर कर दिया गया ! क्या कोर्ट को सीएचबी ने हकीकत से वाक्य ही वाकिफ  नहीं करवाया ! कसूर किसी का भी हो पर पढ़े लिखे समाज की दुहाई देते सिस्टम ने कड़ाके की सर्दी में एक परिवार की खुशियों को पलक झपकते  लगाते हुए बेघर कर डाला ! देशराज गर्ग अपनी बीबी और बेटे के साथ सड़क पर घर का तमाम कीमती सामान लेकर बेबसी में जीवन  बसर करने को मजबूर है ! दुखद बात ये रही जहाँ गर्ग के रिश्तेदार हितैषी और अनेकों मुहल्लों के वाशिंदे उनके साथ दुःख में खड़े हैं वहीँ इस वार्ड से निगम का पार्षद चुनाव जीतने वाले भाजपा के युवा पार्षद एडवोकेट कंवर राणा खबर लिखे जाने तक गायब हैं वहीँ उपविजेता रहे कांग्रेसी उम्मीदवार करणवीर रीटी भी नदारद रहा ! लोगों के मुताबिक रीटी तो अगले मुहल्ले में ही रहता है और पार्षद कंवर राणा भी वार्ड में बुड़ैल में ही रहता है ! पीड़ित परिवार अब कोर्ट में जाने की मंशा  चढ़ाने में मशगूल है ! वकीलों के मुताबिक चंडीगढ़ हाऊसिंग बोर्ड के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज होना चाहिए और सीएचबी की अब तो सीबीआई जाँच  हो और उसमे व्याप्त भ्रष्टाचार का पर्दाफाश होना चाहिए ! दुखी प्रभावित गर्ग फैमिली के मान मर्दन का हर्जाना भी सुनिश्चित करना लाजिमी है !  


                                  डीआर गर्ग के पड़ोसी गगन व् मिसेज विर्क व् गिल नीलम व् बब्बी व् हरवंस गर्ग सहित एसई रिटार्यड शर्मा व् एमएस खान एडवोकेट प्रदीप शर्मा संजय आदि ने  बताया कि गर्ग परिवार इसी मकान में पिछले तकरीबन 19 वर्षों से सपरिवार रह रहा है ! बच्चे इसी घर में पले बढ़े और शादी तक हुई और आज यकलख्त सारा परिवार सड़क पर शुक्रवार से जीवन गुजारने को बेबस है ! अभी तक चंडीगढ़ हाऊसिंग बोर्ड का कोई भी उच्च अधिकारी तक कुशलक्षेम तक जानने नहीं आया है ! सेक्टर  45 ऐ के वासियों ने हैरानी जताई कि अगर कोई हाऊसिंग बोर्ड के मकान में रजिस्ट्री होल्डर मालिक एक ईंट भी लगाता है तो झट उसको मीमो और जुर्माने के लैटर तत्काल थमाने में देर नहीं करते ! बड़ी शर्म की बात है कि यूँ  तो पॉलिटिशियन झट राजनीती की रोटियां सेंकने पहुँच जाते हैं लेकिन अब तक पीड़ित परिवार से कोई किसी राजनेता और किसी पार्टी के नुमाइंदे तक ने हाल तक जानने की जेहमत भी नहीं उठाई ! 
         पडोसी ही पीड़ित परिवार की देखरेख और लाखों रूपये कीमत के घरेलू सामान का संभाल कर रहा है ! बुड़ैल चौकी प्रभारी सब इंस्पेक्टर सतनाम सिंह ने पीड़ित परिवार के प्रति बनती ड्यूटी हर हाल में निभाने का वादा और भरोसा दिलाया ! पुलिस ने उक्त एरिया में अपनी गश्त और भी ज्यादा चौकस कर दी है ताकि कोई भी अनहोनी न हो !  
Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close