उत्तरी भारतचंडीगढ़धर्मराष्ट्रीयसभी समाचारसाहित्य-संस्कारहरियाणा

25 लाख के एकमुखी रुद्राक्ष ने बढ़ाया अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव का मान

25 लाख के एकमुखी रुद्राक्ष ने बढ़ाया अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव का मान    

चंडीगढ़/ कुरुक्षेत्र : 19 दिसंबर ; आरके शर्मा विक्रमा ;—— नेपाल से अंतर्राष्ट्रीय  शिल्पकार के 25 लाख रुपए कीमती एकमुखी रुद्राक्ष की एक झलक पाने के लिए पर्यटक आतुर नजर आए। इस एकमुखी रुद्राक्ष को नेपाल से अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव 2018 के लिए विशेष तौर पर लेकर आए है। इस महोत्सव में पहली बार पहुंचने पर नेपाल के शिल्पी गणेश और राम दुहानी धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र के ब्रहमसरोवर के मनमोहक दृश्य के दिवाने हो गए।
अंतर राष्ट्रीय  गीता महोत्सव 2018 में राज्य सरकार की तरफ से पहली बार क्राफ्ट मेले में आमंत्रित किए गए शिल्पकार गणेश  और राम दुहानी नेपाल से महोत्सव में पहुंचे। यहां पहुंचने पर ब्रहमसरोवर पर उमड़ी भीड़ को देखकर शिल्पकार दंग रह गए। उन्होंने बातचीत करते हुए बताया कि कुरुक्षेत्र में नेपाल की शिल्पकला के साथ पहली बार पहुंचे है और नेपाल से कई प्रकार के रुद्राक्ष लेकर आए है। इनमें एकमुखी रुद्राक्ष सबसे ज्यादा कीमती है। अगर आंकलन किया जाए तो इस एकमुख रुद्राक्ष की कीमत 25 लाख रुपए से अधिक की मिल सकती है। यह एकमुखी रुद्राक्ष बहुत कम मिलता है।
उन्होंने कहा कि उनके पास 10 रुपए से लेकर 25 लाख रुपए तक का रुद्राक्ष रखा हुआ है। इसके अलावा ध्यान केन्द्रित करने के लिए सिंगिंग बाउल्स भी लेकर आए है। इस बाउल्स के जरिए कोई भी व्यक्ति अपने ध्यान को सहजता से केन्द्रित करने में सक्षम हो सकता है और सिंगिंग बाउल्स को सिर पर रखकर सिर दर्द और शरीर के अन्य दर्द को भी कम किया जा सकता है। इसकी कीमत 16 हजार रुपए तक रखी गई है, हालांकि सिंगिंग बाउल्स की कीमत 1100 रुपए से शुरु हो जाती है। उन्होंने कहा कि नेपाल से शॉल, सूट और सजावट के लिए अन्य सामान भी लेकर आए है। यहां के माहौल और वातावरण का देखकर अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव में दोबारा मौका मिलने पर जरुर आएंगे।
Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close