अन्य भारतउद्योग जगतधर्मसाहित्य-संस्कार

कार्तिक कृष्ण पक्ष की अमावस का स्याह अंधेरा मिटाती है दिवाली

चंडीगढ़:–20 अक्टूबर:– आरके विक्रमा शर्मा /हरीश शर्मा /करण शर्मा/ अनिल शारदा प्रस्तुति:— भारतवर्ष में कार्तिक मास का विशेष महत्व कहा गया है! कहा जाता है कि इस मास में देवी देवता भी धरती प्रवास की अभिलाषा रखते हैं। और विभिन्न अवतारों के रूप में धरती पर दर्शनीय रहते हैं। भारतीय हिंदू पंचांग के अनुसार कार्तिक कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि पर दीपावली का त्योहार मनाया जाता है। दीपावली के दिन प्रदोष काल में महालक्ष्मी पूजन का विधान होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दीपावली पर मां लक्ष्मी प्रगट हुईं थीं और कार्तिक अमावस्या तिथि पर मां लक्ष्मी पृथ्वीलोक पर भ्रमण करने आती हैं। दिवाली के दिन घरों को दीयों से सजाया जाता है। दीपावली का त्योहार अंधकार से प्रकाश, अज्ञान से ज्ञान और बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक होता है। दिवाली की रात को विशेष रूप से मां लक्ष्मी की पूजा होती है। दीपावली पर मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा में सभी चीजों का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन दिवाली के खास मौके पर कुछ खास चीजें ऐसी भी होती हैं जिसे पूजन में जरूर शामिल किया जाना चाहिए। मान्यता है कि इससे मां लक्ष्मी जल्द प्रसन्न होती हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close