उत्तरी भारतनई दिल्ली

एक नाबालिगा, चार बलात्कारी, पीड़िता की कक्षा नौ,योगी के राज में गुंडों की बारह पौ 

 

नई दिल्ली: 27 मार्च ; अल्फ़ा न्यूज इंडिया डेस्क ;— देश में बदलाव की बयार पुरज़ोरों पर है ! देशवासियों को अच्छे सुविधा सम्पन्न नवभारत के सब्ज बाग़ दिखाए जा रहे हैं ! कानून औंधे मुंह गिरा हुआ है ! उत्तरप्रदेश में तो गुंडाराज सर चढ़ के बोल रहा है ! माताओं व् बहिनों और बेटियों की सरेआम बीच चौराहे पर इज्जत तारतार होना आम बात है ! जरा ध्यान देना कि जब से चुनाव िथि घोषित हुई है तब से देश में खास कर उत्तर भारत में तो बलात्कारों की बढ़ ही आ गयी है ! पुलिस एक कान से सुनती दूसरे बाहर करती है ! पीड़ित जन को ही पुलिस के आक्रोश का भाजक बनना मजबूरी है ! गुंडाराज में कोई किसी की सुनवाई होगी योगी जी ही जानें ! खबरों पर दृष्टिपात करें तो तीन महीने की बच्ची से लेकर 85 साला बुजुर्ग महिला तक की असम्मत लूटी जानी देश में कानून व्यवस्था का बेडा गर्क होना दर्षाता है ! प्रधानमंत्री देश को गिरने नहीं देंगे और योगी के राज में गुंडे [ रेपिस्ट] नारी को उठने ही नहीं देंगे !  आजकल रेप की घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं| महौल इतना खराब हो रखा है कि स्कूल में पड़ने वाले छात्र भी दुष्कर्म जैसी घनौनी घटना को अंजाम दे रहें हैं| जहां ऐसा ही एक शर्मनाक मामला उत्तर प्रदेश के नोएडा से सामने आया है, यहां नौवीं कक्षा की एक छात्रा को बंधक बना कर 4 छात्रों ने जबरन बलात्कार किया|

 पीड़िता एक स्कूल में नौवी कक्षा में पढ़ती है ! और मंगलवार दोपहर स्कूल की छुट्टी होने के बाद वह अपने घर लौट रही थी|  तभी उसी के स्कूल में पढ़ने वाले चार हटते कट्टे बिगड़ैल छात्रों ने उसे एक कमरे में जबरन बंधक बना लिया व इस घिनौने कृत्य को बड़े आराम से बारी बारी से अंजाम दे डाला| यही नहीं छात्रों ने  छात्रा के साथ मारपीट भी की | उधर पुलिस ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है| आरोपी फरार हैं, उनकी तलाश की जा रही है| फरार होने से पहले गुंडे स्टूडेंट्स पीड़िता को किसी को बताने की सूरतेहाल में जान से मार देने की धमकी मुकर्रर कर गए थे ! यूपी की मुस्तैद पुलिस खबर लिखे जाने तक चारों बलात्कारी स्टूडेंट्स को अभी तक क्यों नहीं हिरासत में ले पाई के जवाब में पुलिस की तुनक मिजाजी कि हम कौन सा रोबोट हैं कि चाबी भरो और पकड़ लाएं ! पीड़िता का पूरा परिवार सदमे और दहशत  में हैं !

Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close