खेल-कूदराष्ट्रीय

पौराणिक परंपरागत मलखंब खेल उज्जैन में पुरयौवनता की ओर है अग्रसर

चंडीगढ़/ उज्जैन:- 20 फरवरी: अल्फा न्यूज इंडिया डेस्क प्रस्तुति:– मलखभ भारतीय प्राचीन खेल है सन 1981 में उज्जैन में भारतीय मल्लखंब फेडरेशन की स्थापना हुई और पहला नेशनल प्रतियोगिता भी उज्जैन में आयोजित की गई शनै शनै धीरे धीरे बढ़ते बढ़ते आज मलखभ की 34 राष्ट्रीय प्रतियोगित हो चुकी हैं । इसके अलावा वर्ल्ड कप भी आयोजित किया गया 2018 में समर्थ व्यायाम मंदिर दादर महाराष्ट्र में मलखभ का वर्ल्ड कप आयोजित किया गया था इस वर्ल्ड कप में 14 देशों ने प्रतिभाग किया था जिसमें मलेशिया ,अमेरिका ,थिंफू ,भूटान, डेनमार्क, जापान ,स्विजरलैंड, इंग्लैंड,भारत की तरफ से खेलते हुए उत्तर प्रदेश और न्यू एरा पब्लिक स्कूल की प्रतिभावान खिलाड़ी ऋतू प्रजापति ने भारत की तरफ से प्रतिनिधित्व करते हुए वर्ल्ड कप चैंपियनशिप में टीम चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल प्राप्त किया वीरांगना झांसी की रानी की नगरी की एकमात्र छात्र ऐसी खिलाड़ी है जिसने उत्तर प्रदेश नहीं वरन राष्ट्रीय स्तर पर अपना मलखभ का परचम लहरा चुकी है और इसके अतिरिक्त वर्ल्ड कप में खेलते हुए गोल्ड मेडल प्राप्त किया और आगामी प्रतियोगिता के लिए खिलाड़ी तैयार है यह नित्य प्रतिदिन अभ्यास के लिए न्यू एरा पब्लिक स्कूल जाती है । एमेच्योर मलखंब एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के सचिव रवि प्रकाश, कोषाध्यक्ष अनिल कुमार पटेल यह दोनों रितु प्रजापति के प्रशिक्षक हैं । एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष संजीव कुमार सराओगी जी ने अवगत कराया

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close