अंतरराष्ट्रीयचंडीगढ़धर्मराष्ट्रीयसाहित्य-संस्कार

हिंदुओं की धार्मिक नगरों में मुसलमानों की बढ़ती आबादी हिंदुत्व की बनेगी बर्बादी जाग जाओ हिंदुओं नहीं तो भाग जाओ हिंदुओं

हिंदुत्व की अलख जगाने वालों के साथ खड़े हो जाओ वरना अपने ही हिंदू देश से भाग जाओ

चंडीगढ़ /वृंदावन:– 8 नवंबर:– आरके विक्रमा शर्मा/ हरीश शर्मा /करण शर्मा /अनिल शारदा+ अचार्य कथा वाचक विमल मिश्रा प्रस्तुति:—-  वृन्दावन में 1985 तक कोई मुस्लिम नहीं था। आज वहाँ मुसलमानों की संख्या 90 हजार से ज्यादा हो गई है। कभी एक भी मस्जिद नहीं हुआ करती थी। वृन्दावन में आज 3-3 बड़ी मस्जिदें रोज सुबह-शाम लोगों की नींद हराम कर रही हैं।

🚩बकरा ईद पर रिफ्यूजी जिहादियों ने पवित्र “वृन्दावन” को भी घेरा और ईद उल जुहा पर लगभग 650 बकरे, भैंसे, ऊँट और अन्य जानवर काटकर वृन्दावन की नगरी को अपवित्र किया। याद रहे, 2009 तक वृन्दावन में मुसलमानों के सिर्फ गिनती के 4-5 परिवार हुआ करते थे और आज इनकी संख्या हजारों में पहुँच गई है।

🚩आपको यह जानकर भी आश्चर्य होगा कि वृन्दावन में एक बाबुद्दीन नामक व्यक्ति के 21 लड़के और लड़कियां हैं। इस्लाम का रिफ्यूजी जिहाद हर तरह से सहयोग कर रहा हैं। वहाँ दिन-दोगुणी रात-चौगुणी रफ़्तार से बच्चों को पैदा किया जा रहा है। ये मुसलमान वृन्दावन में रहने के लिए बड़ी कीमतों पर मकान ले रहे हैं और उस जगह मुस्लिमों को बुला रहे हैं। थोड़े-थोड़े अंतराल में अपने रिश्तेदारों को बुला लेते हैं और उन्हें भी वहीं बसा लेते हैं। ये मुसलमान वृन्दावन में हिन्दुओं का रोजगार भी छीन रहे हैं और वो दिन दूर नहीं जब वृन्दावन की गलियों में भी मीट बिकना शुरू हो जाएगा।

🚩हर धार्मिक नगरी में मुसलमानों की संख्या विचारणीय है। गंगासागर (प. बंगाल) में 28000 की आबादी में लगभग 24000 मुसलमान। द्वारका की 12000 आबादी में लगभग 10000 मुसलमान।

🚩सनातनियों की आस्था का फिनोमिनल शहर है उज्जैन, पुराणों में भी इसका उल्लेख है। यहाँ मुसलमान आबादी लगभग 45% है। काशी, इलाहाबाद व अन्य धार्मिक शहरों में भी मुसलमानों की आबादी 35% है। इसका जिम्मेदार कौन? किसके शासन में मुसलमानो की हिंदुओं के धार्मिक शहरों में आबादी बढाने का खेल रचा गया?

🚩रही मोदी की दूकान बंद कराने की बात, तो आपको बता दें कि मोदी की उम्र अब 71 वर्ष है और उनके पीछे ना परिवार है और बीवी-बच्चे। उन्होंने ज़िंदगी में जो पाना था वो पा लिया है।

🚩अब अगर आप वोट नहीं भी देंगे और वो हार भी जाएँगे, तब भी वो “पूर्व प्रधानमंत्री” कहलाएँगे, आजीवन दिल्ली में घर, गाड़ी, पेंशन, एसपीजी सुरक्षा, कार्यालय मिलता रहेगा। दस-पंद्रह साल जीकर चले जाएँगे, लेकिन सवाल ये उठता है कि आप क्या करेंगे?

🚩जब कांग्रेस, लालू, मुलायम, मायावती, ममता, केजरीवाल मिलकर

★इस देश का इस्लामीकरण और ईसाईकरण करेगी

★रोहिंग्याओं को बसाएगी

★अंधी लूट मचेगी, कोयला घोटाले होंगे

★भगवा आतंकवाद जैसे नए-नए शब्द बनेंगे

★आतंकवादी सरकारी मेहमान बनेंगे!

★हिंदुओं का खतना करवाएगी

★मुसलमानों को आरक्षण देगी, लव जिहाद को बढ़ावा देगी ।

★महंगाई आसमान छुएगी

★पप्पू देश लूट कर इटली घूमने जायेगा

★सैनिक रोज मारे जाएंगे

★पाकिस्तान सर पर बैठ जाएगा।

🚩

•●मोदी पर भ्रष्टाचार का एक भी दाग़ है क्या ?

•●मोदी तो संतोष के साथ मरेंगे कि मैंने एक कोशिश तो की अपना देश बचाने की, लेकिन आप लोग तो हर दिन मरेंगे और अंतिम साँस कैसे लेंगे ?

•●अपने बच्चों के लिए कैसा भारत छोड़ कर मरेंगे ?

•●ज़रा विचार कीजिए और तब

निर्णय लीजिए । 🤷🏻‍♂️

🚩🚩

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close