उत्तरी भारतचंडीगढ़धर्महरियाणाहिमाचल प्रदेश

पौणाहारी लंगर सेवा दल करेगा 21 जून को खाद्य सामग्री जरूरतमंदों को वितरण

चंडीगढ़/ट्राइसिटी:- 19 जून:- आर के शर्मा विक्रमा/ करण शर्मा:— कोरोना महामारी ने भगवान के दरो दरबार को ताले क्या लगवाए, भगवान जी स्वयं घर घर जाकर विद्यमान हो गए, यही तो भगवान की अपरंपार अभेद्य लीला है। भगवान के भक्त अभी भी भगवान के आशीर्वाद अनुसार धर्म पूजा अर्चना याचना लंगर भंडारे उस प्रभु के नामित कर रहे हैं।
सिद्ध बाबा बालकनाथ पौणाहारी लंगर सेवा ट्रस्ट , पंचकूला द्वारा प्रत्येक ज्येष्ठ इतवार को बाबा जी के आशीर्वाद से लंगर का अटूट वितरण चलायमान  था । लेकिन कोरोनावायरस वैश्विक महामारी के चलते उक्त व्यवस्था में अब सिर्फ बाबा जी का रोट का भोग,अरदास के बाद धर्म के आसथावानो में बांंटा जाता है। केवल सूखी राशन सामग्री असहाय जरूरतमंदों में वितरित करने का क्रम बाबाजी की अनुकम्पा से यथाशक्ति जारी है।।

आगामी ज्येष्ठ इतवार 21 जून को भी सूखी राशन सामग्री जरूरतमंदों में वितरित की जाएगी ।

अगर कोई बाबा जी का स्नेहीजन अपनी नेक नियति से यह कमाई का कुछ अंश समाज के जरूरतमंदों के लिए भेंट करना चाहता है तो सहर्ष ट्रस्ट के पदाधिकारियों से संपर्क करें। अनाज फल दल्ले नमक तेल हरी सब्जियां चावल चीनी चाय पत्ती घरेलू जरूरत की खाद्य सामग्री देने वाले प्रभु प्रेमी जरूर बाबाजी का आशीर्वाद लेकर संपर्क करें। वह अपनी तरफ से कुछ भी अपनी समर्थानुसार खाद्य सामग्री दे सकता है। बाकी ट्रस्ट तो अपनी तरफ से प्रमुख संस्थापक/ संचालक बाबा पौणाहारी जी की के आशीर्वाद से जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री (आटा,चावल, दाल मसाले, तेल, साबुन आदि) वितरित करेगी । इस वितरण प्रणाली में हिमाचल एकता महासंघ जिला पंचकूला का भी सहयोग रहेगा।। अल्फा न्यूज़ इंडिया को उक्त जानकारी देते हुए पत्रकार विक्रांत शर्मा- प्रमुख प्रधान,(9417255452) और रविन्द्र नक‌ई- कार्यक्रम प्रधान सहित रमा शर्मा, उपप्रधान हिमाचल एकता महासंघ ने बताया कि देश में कोरोनावायरस से पार पाने वाले दौर में समर्थ लोगों ने बढ़-चढ़कर समाज सेवा की है। बाबा जी के भक्तों ने लोगों को अपने घरों से खाना पका कर झोपड़पट्टीओं में, मलिन बस्तियों में जा जाकर सेवार्पित की। संस्था के प्रेरणा पुंज रामकृष्ण शर्मा ने 3 मई को अपना जन्म दिवस भी समाज के जरूरतमंदों को एक एक महीने का राशन बांट कर मनाया।। प्रधान विक्रांत शर्मा और बाबा जी के अनन्य भक्त रविंद्र नकई निस्वार्थ भाव से पिछले कई वर्षों से बाबा जी की श्री इच्छा मुताबिक रोबोट और लंगर प्रसादी की सेवा का कार्यभार संभाले हुए हैं और समाज के कई वर्गों की यथासंभव मदद भी करते हैं।।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close