उत्तरी भारतनई दिल्लीहरियाणा

विकलांग पुत्रवधू के पुत्र से नहीं बनने दिये शारीरिक संबंध : सुगंधा

सास व नामचीन डाक्टर ससुर पर लगे आरोप

*चंडीगढ़ : 9 जून : अल्फा न्यूज इंडिया डेस्क :—करनाल के सेक्टर 13 के रहने वाले डॉक्टर व उनके बेटे के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और मारपीट की शिकायत, पीड़ित बहु ने गम्भीर आरोप लगाए।*

*आरोप: दहेज के लालच में सास ससुर ने नहीं बनने दिए शारीरिक सम्बन्ध, 25 लाख नकद दहेज की मांगने और पुलिस की मदद से घर से निकालने का आरोप।*

😠कहते है आदमी कितना भी अमीर क्यों न हो जब बात बेटे की शादी की आती है तो मन डगमगाने लगता है।उम्मीद होती है कि शादी में कुछ न कुछ दहेज जरूर मिलेगा लेकिन जैसे जैसे दहेज लोभियों पर कानून का शिंकजा कसता जा रहा है अब ये प्रथा धीरे धीरे बदलने लगी है।लेकिन इंडिया ब्रेकिंग को सम्पर्क कर करनाल के रहने वाले डॉक्टर पर पानीपत वासी सुगन्धा तनेजा ने गम्भीर आरोप लगाकर सनसनी मचा दी है।बहु सुगन्धा ने जो दस्तावेज सौंपे है और कुछ रिकार्डिंग से अवगत करवाया है उससे प्रथम दृश्य बहु के आरोप सत्य प्रतीत हो रहे है।मिली जानकारी मुताबिक बहु सुगन्धा शारीरिक रूप से विकलांग है। वहीं जो शिकायत व सबूत हमें मिले है उसके मुताबिक पानीपत वासी सुगन्धा की शादी बीती 11 अक्टूबर 2018 को करनाल के सेक्टर 13 के रहने वाले मयंक पुत्र डॉक्टर सुदर्शन से हुई थी।
डाक्टर सुदर्शन करनाल में बच्चो के जाने माने डाक्टर है इसलिए सुगन्धा के पिता जोकि बैंक से मैनेजर रिटायर्ड है ने अपनी हैसियत से बढ़कर शादी की जिसमे करीब 42 लाख रुपये खर्च किये गए।शादी में बकायदा लड़के को होंडा सिटी करनाल के लिए 12 लाख नकद दिए गए लेकिन शादी के बाद 14 अक्टूबर 2018 को जब वो रीति रिवाज अनुसार फेरा डालने अपने मायके जाने लगी तो उसके ससुर डॉ सुदर्शन व माँ देविका ने उसे दहेज में कुछ नकद पैसे लाने की बात कहकर भेजा।सुगन्धा के अनुसार उसके पिता पहले ही कई लाख रुपये ख़र्च कर उसकी शादी कर चुके थे इसलिए उसने अपने पिता से ऐसा कुछ नहीं कहा और जब वो फेरा डालकर वापिस आई तो उसके सास-ससुर दहेज के बारे में कोई पुख्ता आश्वासन न होने से नाराज हो गए और उन्होंने अपने पुत्र मयंक और अपनी बहू के बीच शारीरक सम्बन्ध बनाने से मना कर दिया जिसके बाद परिवार में तनाव और कलह का माहौल रहने लग गया।
इसी दौरान सुगन्धा के पिता को पूरे मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने डॉ सुदर्शन और उनकी पत्नी से बात की लेकिन उन्हें कोई पुख्ता जवाब या आश्वासन नहीं मिला जिसके बाद वो अपनी बेटी सुगन्धा को वापिस पानीपत ले गए और मामले की शिकायत पुलिस में कर दी।इसके बाद जब वो खुद फिर से अपने ससुराल रखने आई तो डॉक्टर सुदर्शन ने उसे पूरा दिन घर मे घुसने नहीं दिया और अपनी ओपीडी में बिठाकर रखा।उसके बाद सेक्टर 13 पुलिस को बुलाकर उसे जबरन पानीपत भेज दिया गया जिसके बाद उसे भरोसा हो गया कि उसके ससुराल वाले बिना दहेज लिए घर मे घुसने नहीं देंगे। वहीं सुगन्धा का आरोप है कि पानीपत पुलिस की प्रोटेक्शन आफिसर रजनी ने भी पहले तो सुगन्धा के हक में सुनवाई की लेकिन धीरे धीरे वो भी सुगन्धा पर अपने पति और उसके परिवार को हमेशा के लिए भूलने का दबाव बनाने लगी।इस दौरान प्रोटेक्शन अधिकारी रजनी ने सुगन्धा को ये भी लालच दिया कि डॉ सुदर्शन की तरफ से मामले को सेटल करने का ऑफर है और वो डॉ सुदर्शन के पुत्र को तलाक दे दे और अपना घर कंही और बसाले लेकिन सुगन्धा ने इस बात से इनकार कर दिया।
इस मामले में डॉ सुदर्शन से उनका पक्ष जानने के लिए सम्पर्क किया गया जिसके बाद उन्होंने मामला न्यायालय में होने की बात कहकर फोन रख दिया जबकि बहु सुगन्धा तनेजा के मामला आज की तारीख में न्यायलय तक नहीं पहुंचा है।

मेरे पति मुझसे बात करते है और मेरे साथ रहना चाहते है: सुगन्धा तनेजा

इस मामले में लड़की का पक्ष इसलिए भी मजबूत नजर आ रहा है क्योंकि उसने दावा किया है कि उसके और उसके पति में अभी भी बातचीत होती है तथा उसका पति मयंक उसके साथ रहने के लिए तैयार है लेकिन उसके ससुर डॉ सुदर्शन और सास देविका न जाने क्यों उसका घर बसाने को तैयार नहीं है।सुगन्धा ने दावा किया है कि जब से उसके सास ससुर ने उसे घर से निकाला है उसके पति की लगातार उससे बात हो रही है जिसकी पूरी रिकार्डिंग उसके पास मौजूद है।
अब सुगन्धा ने न्याय के लिए पूरे मामले की शिकायत देश के प्रधानमंत्री, राष्ट्रीय व हरियाणा महिला आयोग, मुख्यमंत्री हरियाणा, डीजीपी हरियाणा, आईजी करनाल रेंज व एसपी पानीपत व एसपी करनाल को की है।क्योंकि सुगन्धा शारीरिक रूप से विकलांग है इसलिए उसने एक शिकायत विकलांग विकास संस्था को भी भेजी है।अब सवाल है कि डॉ सुदर्शन जोकि खुद करनाल के जाने माने व पुराने डाक्टर है क्यों अपनी बहु को घर रखने को तैयार नहीं है? बहु द्वारा जो जानकारी दी गई है उसके अनुसार डॉ सुदर्शन के परिवार के ही कुछ लोग उन्हें भड़का रहे है ताकि किसी और बड़े घर मे मयंक का रिश्ता किया जा सके।
सुगन्धा ने बताया कि वो सिर्फ आप के पति के साथ रहना चाहती है क्यूंकि कोई भी लड़की शादी इसलिए नहीं करती कि बाद में पैसे लेकर वो पहली शादी से समझौता कर ले।उसने कहा कि यदि उसे न्याय नहीं मिला तो वो करनाल में डॉ सुदर्शन के घर के सामने न्याय के लिए गुहार लगाएंगी।

साभार आई बी एन।।।

Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close