चंडीगढ़शिक्षा

ट्यूशन पढ़ने वाली छात्राओं को करता है कंबाली का युवक परेशान

पीड़िता की दुहाई पर राहगीरों ने की जूतों से धुलाई

चंडीगढ़ : 10 फरवरी: एनके धीमान आरके शर्मा विक्रमा : आजकल पैदा होते ही बच्चा मोबाइल की डिमांड करता है दूसरा हर कक्षा की पढ़ाई के लिए ट्यूशन सांस लेने से भी ज्यादा जरूरी हो चुकी है यह ट्यूशन कहीं तो अनिवार्य है जरूरत है और कहीं एक फैशन और प्रेस्टीज इशयु भी बन चुका है।

मां बाप की खून पसीने की कमाई प्राइवेट स्कूलों वाले बखूबी लूट रहे हैं स्कूलों में नाम मात्र ही पढ़ाई है तभी तो ट्यूशन इंस्टीट्यूट कुकुर मुद्दों की तरह कुकुरमुत्ता की भांति यहां वहां सारे जहां पनप रहे हैं

चंडीगढ़ आजकल एजुकेशन हब बोले तो ट्यूशन हब के रूप में ट्राइसिटी ही नहीं पंजाब हरियाणा में और हिमाचल में बखूबी अपनी पहचान बना रहा है। दूर-दूर से छात्र-छात्राएं विभिन्न क्लासों की किसने लेने यहां या तो डेली अप डाउन करते हैं या पीजी बनकर रहते हैं। यह ट्यूशन है लंबे चौड़े पाठ्यक्रम के कारण बड़ी सवेरे ही 5:30 बजे से ही शुरू हो जाती हैं जो रात को भी सात 7:30 बजे तक चलती हैं। छात्राओं की और अभिभावकों की बड़ी मजबूरी है कि उन्हें जान जोखिम में डालकर ट्यूशन पढ़ने आना पड़ता है और दिनचर्या की व्यसताओं के कारण मां-बाप या अभिभावक रोज-रोज बच्चों को ट्यूशन लेकर जाना और लेकर आना असंभव पाते हैं छात्राएं साइकिलों से एक्टिवा से ट्यूशन इंस्टिट्यूट पहुंचती हैं सड़कों पर दूर-दूर तक पीसीआर का नमों निशान नहीं दिखता है। लड़कियां डरी सहमी छुपे हुए अनचाहे भयावह मंजर से घबराते हुई उक्त  इंस्टीट्यूट पहुंचते हैं ।लेकिन मनचले युवक इन बच्चियों पर इन छात्राओं पर अश्लील फब्तियां कसते हैं छेड़खानी करते हैं। शर्म लाज के मारे बच्चियां ट्यूटर और पुलिस तो दूर अपनी बहनों या माताओं को भी बताने से गुरेज करती हैं। हाल ही में सिविल अस्पताल  सेक्टर 45 डी और सेक्टर 46 की लाइट प्वाइंट पर गांव कंबाली का स्कूल यूनिफॉर्म पहने एक युवा छात्र ट्यूशन जाने वाली लड़कियों को अक्सर परेशानी का सबब बनते हुए इन लड़कियों में दहशत का पर्याय बन चुका है। पुलिस की गश्त कड़ाके की  ठंडी के मौसम में बेहद ठंडी रहने के कारण इस के हौसले बखूबी बुलंद हैं। मिली पुष्ट जानकारियों मुताबिक यह मजनू लड़कियों से एक्टिवा को हाथ देकर भोला सा चेहरा बनाकर लिफ्ट मांगता है और एक्टिवा पर बैठते ही लड़कियों की कमर में हाथ डालता है कई तरह की शरारतें करता है लड़कियां ना चलाएं इसके लिए खूब धमकाते है और खुद को बड़े पुलिस अधिकारी का रिश्तेदार बताकर लड़कियों पर दहशत जमाता है लेकिन हाल ही में ट्यूशन जाती एक लड़की ने उसे उसी स्थान पर लिफ्ट लेने के लिए गुहार लगाते देखा तो एक्टिवा भगाकर 46 इंस्टीट्यूट पहुंच गई रोई चलाई तो आसपास के लोगों ने इकठे होकर उसके साथ जाकर मजनू को दबोचा।खूब दिल्लगी से सैर करने वाले राह चलने वाले बुजुर्गों तक ने कंबाली के इस युवक की खूब छिततर परेड की। खूब जूतों से  धुलाई की। हाथ पैर जोड़ने नाक रगड़ने बुजुर्गों के जूतों पर सिर्फ माता पटकने की बात स्कोर किसी द्वारा पुलिस को सूचित किए जाने के बाद आई पुलिस इसे अपने साथ ले गई और बनती कार्रवाई करने का मौके पर जमा बुजुर्गों को यकीन भी दिलाया और बच्चियों को निडर होकर ट्यूशन पढ़ने के लिए आने-जाने का  अच्छा हौसला अफजाई  की।।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close