चंडीगढ़धर्मसेहत

विश्व रक्तदान दिवस पर दिल खोलकर करें स्वैच्छिक रक्तदान

महामारी के इस दौर में अस्पतालों में रक्त की कमी ना होने देना, आप सबकी इंसानियत की मिसाल है:- डॉक्टर जेपी बंसल

चंडीगढ़: 13 जून:- आरके विक्रम शर्मा/ एनके  धीमान:– आज हमारा देश एक महामारी जैसी भयानक और जानलेवा कहर से गुजर रहा है। ऐसे समय में हम सभी नागरिकों को राष्ट्रभक्ति का उदाहरण बनते हुए अपने देश के लिए तन मन धन से एकजुट होकर खड़े रहना होगा। समूचा देश कोरोना वायरस के नागपाश में झकड़ा हुआ है। अस्पतालों में रोगियों के लिए  बेड तो दूर की बात है। स्टेचरस की कमी अखरती है। रोगी को जमीन पर लेटाने तक के लिए स्थान की भारी किल्लत चल रही है। हमारी सुविधाएं इस महामारी के आगे ऊंट के मुंह में जीरा हो चुकी हैं। रोगियों को बचाने के लिए खून की  भारी कमी है। ऐसे में समाज के अनेकों धार्मिक सामाजिक परिवारिक संगठन आगे आकर स्वैच्छिक रक्तदान करके लोगों की जान बचा रहे हैं। हमें भी अपनी बनती हुई जिम्मेवारी को कर्तव्यनिष्ठा से पूरा करना होगा। हमें भी विश्व रक्तदान दिवस के मौके पर स्वेच्छा से रक्तदान करके कई जानों को बचाना होगा। इसी सिलसिले में ट्राइसिटी में अनेकों संस्थाएं अपने अपने स्तर पर रक्तदान शिविर आयोजित कर रही हैं। युवा वर्ग बढ़-चढ़कर रक्तदान करें। और अपने साथियों से भी रक्तदान करवाएं। सर्वविदित है कि रक्त दान महा कल्याण यही है इंसान के जीने का विधान।।।

पंजाब स्टेट अवॉर्डी डॉक्टर सुभाष भास्कर उभरते कलमकार जोकि थैलेसीमिक बच्चों के लिए रक्तदान शिविर आयोजित करने के लिए जाने जाते हैं, ने भी युवा वर्ग से महामारी के इस दौर में दिल खोलकर रक्तदान करने की अपील की है। युवाओं को बिना किसी डर  के रक्तदान करना चाहिए। यह रक्त अपने आप शरीर में कुछ ही दिनों में फिर पूर्ण हो जाता है। इसी लिए आपका किया हुआ रक्तदान एक साथ कई जानें बचाता है। आज समय है अपने आप को इंसान सिद्ध करने का।। इस समय का लाभ उठाएं। सरकार के कदम से कदम मिलाएं। और डॉक्टरों के मददगार बन जाएं। जिन्हें रोगियों को बचाने में खून की कमी के चलते भारी परेशानियों से दो-चार होना पड़ रहा है।।

सिटी ट्राइसिटी प्रेस क्लब के महासचिव हरीश शर्मा ने जानकारी दी है कि शिरोमणि अकाली दल चंडीगढ़ इकाई भी विश्व रक्तदान दिवस पर स्वैच्छिक रक्तदान शिविर लगाकर रक्त यूनिट्स एकत्र करके अस्पताल प्रशासन के सुपूर्द करेंगे।
*विश्व रक्तदान दिवस*
सभ्यता के विकास की दौड़ में मनुष्य भले ही कितना आगे क्यों ना निकल गया हो, पर सच यही है कि जरूरत पड़ने पर आज भी एक मनुष्य दूसरे को अपना रक्त देने में हिचकिचाता है।
रक्तदान के प्रति जागरुकता फैलाने और लोगों को रक्तदान करने के लिए प्रेरित करने के लिए ही 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस मनाया जाता है।

सरकारी डिस्पेंसरी सेक्टर 20 चंडीगढ़ के जाने-माने मेडिसिन के डॉक्टर जेपी बंसल ने भी लोगों से विशेषकर यूथ से रक्तदान करने की पुरजोर अपील की है। डॉक्टर जेपी बंसल ने कहा कि डॉक्टर रात दिन कोरोना पीड़ितों की जान बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं। ऐसे में खून की कमी के चलते डॉक्टर बेबस नजर आ रहे हैं। आओ, हम सब मिलकर डॉक्टरों की राह पर चलते हुए इन रोगियों के लिए संजीवनी बूटी बन जाएं।।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close