चंडीगढ़राजनीति

​बंसल और खेर पर भारी पड़ी धवन की दूरगामी नीतियां और पूर्ववत किये गए काम ​

"उम्मीदवार से मिलिए चंडीगढ़ रेजिडेंट्स एसोसिएशंस वेलफेयर फेडरेशन पंजीकृत"

चंडीगढ़ ; 4 मई ; आरके शर्मा विक्रमा ;— स्थानीय इकलौती संसदीय सीट पर लोक सभा 2019 के लिए चुनाव आगामी 19 मई को मतदान होगा ! जोकि सात चरणों में होने वाले मतदान का आखिरी मतदान होगा !
चंडीगढ़ रेजिडेंट्स एसोसिएशंस वेलफेयर फेडरेशन पंजीकृत ने चंडीगढ़ प्रेस क्लब में आज सुबह “उम्मीदवार से मिलिए” प्रोग्राम का बड़े स्तर पर आयोजन किया। उक्त कार्यक्रम में 83 रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशनों / अनेकों समाजों से जुड़े संगठनों के प्रतिनिधियों ने बढ़चढ़ करके भाग लिया।
आज ” “उम्मीदवार से मिलिए प्रोग्राम के आयोजक करॉफेड के अध्यक्ष हितेश पुरी ने कहा कि चंडीगढ़ से लोकसभा चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों को बुलाने के पीछे उनका महासंघ एक गैर-राजनीतिक इकाई है और विचार है कि वह प्रत्याशियों को निवासियों की लम्बे आरसे से लटकती और बुनियादी मांगों से अवगत कराएं और मुद्दों और भावी विकास परियोजनाओं के बारे में उनकी दृष्टि और सोच को समझें व् जानें।
“मीट द कैंडिडेट” कार्यक्रम में मुख्य आमंत्रित कांग्रेस आई पार्टी से पवन कुमार बंसल [पूर्व केंद्रीय रेल मंत्री,भारतीय जनता पार्टी से बॉलीबुड अभिनेता अनुपम खेर की बॉलीबुड अदाकारा धर्मपत्नी और पूर्व भाजपा सांसद किरण खेर सहित आम आदमी पार्टी [आप ] के उम्मीदवार व् पूर्व केंद्रीय राज्जीय उड्ययन मंत्री हरमोहन धवन और हाल ही में उभर रही लोकल स्तर की चंडीगढ़ की आवाज पार्टी से अविनाश शर्मा सिंह थे ! पवन कुमार बंसल और हरमोहन धवन चौबीसों घंटे शहर में उपस्थित रहने वाले चेहरे कहे जाते हैं ! लेकिन किरनखेर के बारे मेंबताया जाता है कि वह अधिकतर वक़्त मुंबई में अपनी फिल्मों की शूटिंग्स के सिलसिले में शहर से नदारद ही रहती हैं ! तो अविनाश सिंह शर्मा को स्थानीय जनता अभी पहचानती भी नहीं है ! बकौल पब्लिक ये प्रवासी लोगों के बीच खासकर बिहार यूपी के प्रतिनिधि के रूप में पहचान बनाने का भरसक प्रयास कर रहे हैं ! तो ये स्थानीय मुद्दों के बारे में खुद नए ही हैं !
क्रॉफेड के पदाधिकारी और आरडब्ल्यूए के प्रतिनिधियों ने चंडीगढ़ के विकास व व्यवस्था से सम्बंधित अनेकों गंभीर मुद्दों पर चिंता जताई !
हितेश पूरी के मुताबिक चंडीगढ़ में बिगड़ती कानून और व्यवस्था की बदतर स्थिति व्
यातायात व् सड़कों गलियों में बेकाबू बढ़ती भीड़, अंडर-पास और मेट्रो रेल सहित डीटोड और मोनो रेल, मिनी बस v4, v5 सड़कों के लिए, चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड की जरूरत आधारित[नीड बेस्ड] नीति पर तीनों नेताओं ने विचार व्यक्त किये ! कभी किसी नेता की हूटिंग होती तो किसी के लिए जनता तालियां बजाती ! तीनों ने अपने अपने ढंग से अपनी और पार्टी छवि ब्यान की ! हरमोहन धवन को हर चुनाव में पार्टी बदलने का कारण पूछा गया तो धवन ने बेबाकी से स्पष्ट किया कि ये सब जनता की ही सेवा के लिए किया गया तो सुनने वालों ने खूब तालियां और नारे लगाए !!

Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close