चंडीगढ़धर्मनई दिल्लीराष्ट्रीय

विहिप चंडीगढ़ इकाई ने डिप्टी कमिश्नर को रविदास मंदिर पुनर्निमाण सम्बंधी ज्ञापन सौंपा  

दलित व हिंदू सहित मुस्लिम समाज से शांति भाईचारा बनाये रखने की पुरजोर अपील

चंडीगढ़ : 13 अगस्त : (आरके शर्मा विक्रमा /मोनिका शर्मा) विश्व हिन्दू परिषद् चंडीगढ़ ने आज स्थानीय डिप्टी कमिश्नर को दिल्ली में रविदास मंदिर पुनर्निर्माण व रविदासी समाज के सम्मान बहाली हेतू ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि हम सभी आपके ध्यानार्थ लाना चाहते है कि तुग्लागाबाद में हिंदुओ के आराध्य भगवान श्री रविदास जी के भव्य मंदिर को तोड़कर दिल्ली सरकार ने जो दुस्साहस किया है वह शर्मनाक है। दिल्ली सरकार ने न्यायालय के निर्णय की आड मे दशकों पुराने रविदास समाज के पुण्य स्थल को तो गिरा दिया। किन्तु दिल्ली की ही अनेक अदालतों द्वारा जारी आदेश की अनुपालना में कई मजारो व मस्ज़िदो को, जिन्हें अवैध पाया गया था, हाथ तक लगाने की हिम्मत नहीं की, आखिर क्यों? इससे रविदास समाज ही नहीं अपितु, सम्पूर्ण हिन्दू समाज बेहद आहत हुआ है।

विश्व हिन्दू परिषद् एवं समस्त हिंदू समाज आपसे यह आग्रह करता है कि आप रविदासी समाज के मंदिर का पुन निर्माण कर समस्त रविदासी समाज के सम्मान की बहाली हेतू दिल्ली सरकार को निर्देश दें। और भव्य मंदिर का पुन निर्माण करवाए ताकि हिंदुओ की आस्था की रक्षा हो सके।इस मौके पर विश्व हिंदू परिषद के चंडीगढ़ के मंत्री सुरेश राणा ने बताया कि रविदास समाज के साथ पूरा संगठन साथ खड़ा है, जब तक दिल्ली सरकार मंदिर की बहाली नहीं करवाती तब तक हमारा संगठन तन मन धन से संघर्ष करता रहेगा।

इस मौके पर सुशील पांडेय, राकेश चौधरी,जितेंद्र दलाल, अनुज कुमार सहगल, देविंदर सिधु ,और शिप्रा बंसल उपस्थित थे ।

उधर गांव दडवा स्थित जाहरवीर गोगा जी मेढी के पुजारी बलबंत सिंह सैनी और मोहाली के सेक्टर 70 के समीप वरती गांव मटौर स्थित पुरानी पीर बाबा की दरगाह के गद्दीनशीन बाबा रमजान मोहम्मद साहब ने समाज के तमाम वर्गों को अमन-चैन आपसी भाईचारे को पूर्ववत कायम रखने व उक्त विकट घड़ी में शांतचित्त रहते हुए एकजुट और तटस्थ रहने की पुरजोर अपील की है।।

फोटो विवरण :उपायुक्त चंडीगढ़ प्रशासन को विभिन्न धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने ज्ञापन सौंपा और सामूहिक फोटो खिंचवाते हुए – – – – – आरके शर्मा विक्रमा ।।

Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close