चंडीगढ़धर्मसाहित्य-संस्कार

महीने में तीन से ज्यादा ग्रहण आ जायें तो चिंता का विषय

चंडीगढ़:- 29 मई : अल्फा न्यूज़ इंडिया डेस्क:— भारतवर्ष की यही पुख्ता पहचान है कि कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी बीमारी के जानलेवा तांडव के चलते भी यह देश अपनी धर्म परंपराएं प्रचलन तीज त्यौहार व्रत आदि तक नहीं भूला है।।।

– 5 जून से 5 जुलाई 2020 के बीच मे तीन ग्रहण है
एक महीने में तीन ग्रहण
दो चंद्र ग्रहण
एक सूर्य ग्रहण

जब कभी एक महीने में तीन से ज्यादा ग्रहण आ जाये
तो एक चिंता का विषय बनता है — पंडित संजय कृष्ण भारद्वाज ( व्यास )

5 जून 2020 चंद्रग्रहण
प्रारंभ रात 11:15 मिनिट समाप्ति 6 जून सुबह 2:34 चंद्र ग्रहण जिसमे शुक्र वक्री और अस्त रहेगा गुरु शनि वक्री रहेंगे तो तीन ग्रह वक्री रहेंगे, जिसके कारण जिसके प्रभाव भारत की अर्थव्यवस्था पर होगा। शेयर बाजार से जुड़े हुए लोग सावधान रहें। यह ग्रहण वृश्चिक राशि पर बहोत बुरा प्रभाव डालेगा। किसी ख्यातिप्राप्त व्यक्ति की रहस्यात्मक मौत।
परिवार वालो के साथ वाद विवाद का सामना करना पड़ेगा तो वृश्चिक राशिवाले सावधान।

21 जून 2020 सूर्य ग्रहण
एक साथ छ ग्रह वक्री रहेंगे बुध, बृहस्पति, शुक्र, शनि, राहु, केतु यह छह ग्रह 21 जून 2020 को वक्री रहेंगे। इन छह ग्रह का वक्री होना यानी एक बहोत बड़ा तहलका मचाने वाला है।

5 जुलाई 2020 चंद्रग्रहण एक बहुत बड़ा परिवर्तन
मंगल का राशि परिवर्तन
सूर्य का राशि परिवर्तन
गुरु धन राशि मे वापस, लेकिन वक्री रहेंगे।
शुक्र मार्गी
प्राकृतिक आपदाएं आयेगी।
विश्व युद्ध होगा वैश्विक शक्तियां लड़ने को हावी होगी।
किसी ख्यातिप्राप्त यशस्वी कीर्तिमान राजनीति नेता की हत्या होगी कुछ जगह पर आपसी लड़ाईया होगी। जल प्रलय का खतरा हम सभी पे मंडरा रहा है।

5 जून को चंद्र ग्रहण
21 जून को सूर्य ग्रहण
5 जुलाई को चंद्र ग्रहण

यह तीन ग्रहण के कारण उथल-पुथल मच जायेगी
मांसाहार का त्याग करें, अन्यथा भंयकर परिणाम। साभार व्हाट्सएप यूजर से।।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close