चंडीगढ़धर्म

पुत्रों माक़िफ़ पेड़ों को लोग लें गोद ; पंडित रामकृष्ण शर्मा

चंडीगढ़ ; 23 फरवरी ; आर के शरमा विक्रमा ;—- धर्मप्रज्ञ और साधु संत समाज सहित दीन  हीन के हमदर्द पंडित  रामकृष्ण शर्मा ने समाज के हर वर्ग के लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि वार्मिग ग्लोबल का खतरनाक परिणाम देने वाली भयावह चेतावनी से हरकोई वाकिफ है पर कुछ करने के नाम पर हर कोई कन्नी ही काटता है ! आओ मिल कर प्राकृतिक सम्पदा के सच्चे निस्वार्थी पर सार्थक संरक्षक बनें ! पंडित रामकृष्ण शर्मा ने आगे कहा कि हर कोई दम्पति या परिवार अपनी सुविधा मुताबिक धरा पर लगे घर के आसपास या दूरदराज पेड़ों को गोद लें और उन  वृक्षों की   देखभाल अपने बेटों बेटियों की माक़िफ़ करें !  पुण्य और अपने लिए हरेभरे जीवन का आधार और कोई हो ही नहीं सकता !   आज ग्रीन सिटी कही जाने वाली चंडीगढ़ सिटी हरियाली विहीन हो रही है ! सैकड़ों पेड़ सूख रहे हैं ठूंठ बन कर अनहोनी बनने का सबब बने हुए हैं ! इस ओर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है ! दयनीय सच तो कि प्रशासन व्  नगर निगम सहित समाज सेवी संस्थाएं,  पर्यावरण चितेरे आमुक सब मूक दर्शक बने हुए हैं !

पंडित  रामकृष्ण शर्मा ने याद  दिलाया कि कैसे पंचकूला सेक्टर 11 की वरिष्ठ नागरिक माता कलावती शर्मा ने पंचकूला के पार्कों  चौराहों व्  सड़कों के किनारे पर्यावरण की संरक्षिका बनते हुए दर्जनों पीपल के पेड़ लगाए हैं ! जो आज उनके दिवंगत होने के बाद भी सब को बिना भेदभाव के अतुलनीय सुख दे रहे हैं ! समाजसेविका और पर्यावरण चितेरी दिवंगतात्मा  कलावती शर्मा से ही प्रेरित होकर गैर राजनीतिक समाजसेवी और राष्ट्र भाईचारे को समर्पित संस्था “हिन्द संग्राम परिषद” के संस्थापक मंडल व् जुझारू  संचालक  विक्रांत शर्मा ने ट्राइसिटी में एक सौ पीपल के पेड़ लगाने का भगीरथी और अनुकरणीय  उदाहरण रचा था ! पीपल ब्रह्म स्वरूप है यानि जीवन है ! पर हर पेड़ धरती का श्रृंगार और जीवन आहार है सो आगे आओ और अविलम्ब पेड़ों को गोद लेकर इन संजीवनी रूपी पेड़ों को  ठूंठ बनने से पहले ही जीवन दें ! ताकि हमसब का जीवन स्वस्थ और दीर्घायु बना रहे !

पंडित रामकृष्ण शर्मा से अक्षरत सहमत होते हुए भारतीय वन सेवा से सेवानिवृत सुरिंदरपाल सिंह  ने कहा कि किसी भी वन सेवक समाजसेवी को पेड़ की देखभाल संबंधी जानकारी लेनी है तो तुरंत उनके मोबाइल नंबर 7589388111 / 9872886540 पर सम्पर्क करें !  सुरिंदरपाल सिंह [ आईएफएस ] के मुताबिक कुदरत का हर करिश्मा जीवनदायी है हर पेड़ भी किसी न किसी रूप में फलदायक ही है सो कोई भी पेड़ गोद लें अपना  समझ कर ही ! आप का ये जीवन और  सार्थक जनहितैषी बनेगा !

चंडीगढ़ प्रशासन के अधिकारी राजनदेव शर्मा [ए सी (एफ एंड ऐ)] और  कुलभूषण चौधरी [असिस्टेंट कंट्रोलर फाइनेंस एंड अकाउंट्स ] ने भी उक्त “पेड़ गोद लो” अभियान का हिस्सा बनने का और समाज के दूसरे लोगों  को भी  पुनीत कार्य के लिए प्रेरित  व् प्रोत्साहित करने का दम भरा है !

Advertisement
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close